Naradsamvad

राम सनेहीघाट- मबैया स्थिति गौशाला में गायों की हालात बदतर… सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो- नही दिख रहे गौरक्षक-सरकारी दाबे हवा हवाई….

उपजिलाधिकारी और पुलिस क्षेत्राधिकारी ने किया था गौशाले निरीक्षण,नही मिली थी कोई कमी, वीडियो को बताया फ़र्ज़ी

नारद संवाद समाचार।
राम सनेहीघाट।। जिले की तहसील राम सनेहीघाट के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत मबैया में बने गौशाला के वीडियो पिछले कई दिनों से शोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। वायरल विडियो में गौशाले के अन्दर शराब की खाली बोतलें और गांयों कि दुर्दशा दिखाई गई है। बताया जाता है कि यहां गौशाले में चारा काटने की मशीन है जो पिछले लगभग 6 माह से खराब पड़ी है। ऐसे में गायों को खड़ा चारा खाने पर सिस्टम के अधिकारी मजबूर कर रहे हैं। केयर टेंकरों से भी पूँछने पर किसी भी सवाल का कोई भी सन्तोष जनक जबाव नही दिया गया। गौशाले के नाम पर खर्च होने वाले करोड़ों रुपये सिर्फ कागजों में ही खर्च हो रहे हैं धरातल पर गौशाले के नाम पर मबैया में बड़ा गोलमाल हुआ है।

पानी मे तड़पती गांयों के वीडियो शोशल मीडिया पर हुए वायरल

मबैया-बनीकोडर ब्लॉक की ग्राम पंचायत मबैया स्थित गौशाले में पानी मे पड़ी तड़प रही गाय का वीडियो शोशल मीडिया और वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो के बाद उपजिलाधिकारी के साथ पुलिस क्षेत्राधिकारी राम सनेहीघाट ने निरीक्षण कर अपना पल्ला झाड़ लिया साथ ही गौशाले के अंदर किसी को भी आने-जाने की अनुमति पर भी रोक लगा दी।जब पूँछा तो शराब के खाली बोतल वाली बात पर सीओ जटा शंकर मिश्रा ने अपना रुख मोड़ लिया और जबाव में उसे फ़र्ज़ी वीडियो बता दिया। आधिकारिक तौर पर हुए निरीक्षण में कोई भी खामियां नही पाई गई।ऐसा पुलिस क्षेत्राधिकारी का कहना है।


गौशाले में कैसे पहुँची शराब की बोतलें-

चुनावी माहौल के चलते ग्राम पंचायतों में बने गौशाले आज कल शाम होते ही किसी वार से कम नही आकेँ जाते हैं। सूत्र बताते हैं कि शाम को अपनी थकान उतारने के लिए ब्लॉक के कर्मचारियों के साथ कभी कभी केयर ट्रेकर वहां एन्जॉय भरी पार्टी का आनंद लेते हैं जिसके बाद बो खाली बोतले वहाँ पड़ी रहती हैं दरअसल साहब के आदेश के बिना कोई गौशाले के अंदर कोई नही प्रवेश कर सकता इस लिए शराब पीने के बाद खाली बोतलों को फेंकना उचित नही समझते।

 

लाखों के खर्चे में बंदरबांट…..

गौशाले में सरकारी धन का खूब खर्चा किया जा रहा है ताकि गायों को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा न हो पीने के लिए ताजा पानी, हरा चारा,भूटा, दाना आदि सभी की व्यवस्था सुचारू रूप से जारी रह सके, लेकिन चुनाव के चलते इन गौशाले का ध्यान सिर्फ केयर ट्रेकर अपनी मर्जी से कर रहे हैं।
गांयों की नादों को विडियो में देखकर साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि सिर्फ खड़े चारे के सिवा उनको कुछ नही मिलता है जिसके चलते गांयों की हालत ठीक नही है साथ ही समय और सुचारू रूप से इलाज भी नही मिलता नजर आ रहा है क्योंकि इस गौशाले में 2 से 3 गांयों की पूंछ में कीड़े भी पड़ गए हैं लेकिन उसका कोई समुचित इलाज नही हो रहा है।। खान पान और इलाज न मिलने की बजह से तीन गांयों की मौत भी हो गयी है। जिसमे एक गाय वीडियो में पानी मे पड़ी सांस ले रही थी। अगर समय से इलाज मिलता तो सरकार सहित आम जन मानस का सपना गौशाले के प्रति पूरा होता। साहब चुनाव तो सही तब होता जब आप ने गौ माता की रक्षा की होती , आज चार जून को जो परिणाम आयोध्या-फैज़ाबाद लोक सभा क्षेत्र से आये हैं। इनको देखकर यह लग रहा है कि कहीं न कहीं गौ श्राप लगने की बजह से ही आज रुझानों में परिवर्तन हुआ है।

अन्य खबरे

गोल्ड एंड सिल्वर

Our Visitors

37281
Total Visitors
error: Content is protected !!