Saturday, April 20, 2024
HomeLatest Newsमहादेवा ओमकारा महोत्सव के छठे दिन लोकगीत पर झूमे श्रोता

महादेवा ओमकारा महोत्सव के छठे दिन लोकगीत पर झूमे श्रोता

 

                                                  एडिटर कृष्ण कुमार शुक्ल

रामनगर बाराबंकी।महादेवा महोत्सव के छठे दिन सांकृतिक मंच से मंगलवार को प्रदेश सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया गया। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग विभाग के तहत पंजीकृत लोक सास्कृतिक दल ‘मनोज कुमार एवं साथी’ के कलाकारों ने लोग गीत प्रस्तुत किए। इस दौरान गीत-संगीत एवं नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगों को सरकार की कल्याणकारी एवं विकासात्मक योजनाओं की जानकारी दी जाएगी।

 लोक सास्कृतिक दलों द्वारा परंपरागत प्रचार के माध्यम गीत-संगीत से जहां लोगों ने मनोरंजन किया। कलाकारों ने ‘गंगा जी के महिला महान हे जगतारन जननी..से कार्यक्रम की शुरूआत की। इसके बाद ‘करी के सफाई प्रदुषण से बचैईवे, एही में बाटे कल्यान हे जगतारन.. लोग गीत की प्रस्तुति देकर स्वच्छता अभियान की अलख जगाई। कलाकारों ने ‘दिनों दिन होत प्रकृति से मजाक बा, एही से त सूखा के लक्षण दिखात बा.. लोग गीत के माध्यम से पर्यावरण का संदेश दिया। एक के बाद एक लोक गीतों की प्रस्तुति देकर कालाकारों ने केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा कार्यान्वित विभिन्न कल्याणकारी एवं विकासात्मक योजनाओं की जानकारी भी दी जाएगी। कलाकार संकर जादूगर ने जादू दिखा कर एकता का संदेश दिया। लोक गायन टीम में राजू यादव,राजेश यादव,दिनेश यादव शामिल हुवे। महादेवा महोत्सव में महिलाओं ने पारंपरिक लोग गीतों की प्रस्तुति देकर वाहवाही लूटी। इस दौरान एकल गान और समूह गान प्रस्तुत किए गए।लोक गायिका शाशि चतुर्वेदी ने ‘सुरज मुख न जइवै न जइवै हो, कि बिदिंया का रंग उड़ा जाय। इसके बाद अगली परफॉर्मेंश अंजली खन्ना ने ‘पटन से वैदा बुलाये दा, नजरा गइली गुइयां…, गोरी गोरी बइयां..समेत कई प्रस्तुतियां दी। लोग गीतों प्रस्तुति पर दर्शक झूंम उठे।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े