Saturday, April 20, 2024
HomeLatest Newsऊर्जा मंत्री ए के शर्मा के समझाने के बावजूद नही माने विद्युत...

ऊर्जा मंत्री ए के शर्मा के समझाने के बावजूद नही माने विद्युत संविदा कर्मी होगी सख्त कार्यवाही

 

 

 

               वाइस एडिटर के के शुक्ल
नारद संवाद एजेंसी रामनगर बाराबंकी। तहसील रामनगर के विद्युत उपकेंद्र बुढ़वल से शुक्रवार की प्रातः काल से ही विद्युत संविदा कर्मचारियों के द्वारा अपनी मांगों को लेकर हड़ताल कर विद्युत व्यवस्था बाधित कर दी गई है।34 घंटे बीत जाने के बावजूद भी संविदा कर्मी नही चेते है।सभी के मोबाइल फोन बंद है। एस डी ओ, जे ई,विद्युत अधिशाषी अभियंता से जनता संपर्क नहीं कर पा रही है।उत्तरप्रदेश के मुखिया ने महादेवा जैसे तीर्थस्थल के लिए 24 घंटे बिजली देने का एलान किया था और विद्युत दी जा रही थी,परंतु विद्युत संविदा कर्मियों ने मुख्यमंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुवे रामनगर महादेवा,गणेशपुर के फीडर की विद्युत व्यवस्था बंद कर दी जिससे सैकड़ों गांव के लाखो लोग अंधेरे में रात गुजारने को विवश हो गए है।सरकार ऐसे विद्युत कर्मी के ऊपर ठोस कार्यवाही करे नही तो जनता दोबारा ऐसी सरकार नही चुनेगी।अगर इनकी मांगे जो भी थी वो विनम्रता पूर्वक करनी थी ऐसे ही जनता को परेशान करके अपनी मांग पूरी करवाना चाहते है।ये तो सरासर गलत है,अब तो कोर्ट ने भी आदेश सरकार को दे दिया है कार्यवाही तुरंत की जाए देखो सरकार कब कार्यवाही करती है।ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने प्रेस वार्ता में मीडिया से कहा अगर संविदा कर्मी शनिवार की शाम के 6 बजे तक वापस ड्यूटी पर आ जाए नही तो सभी संविदा कर्मियों को बर्खास्त कर दिया जाएगा।

ऊर्जा मंत्री एके शर्मा की प्रेसवार्ता

UP में बिजली हड़ताल की स्थित से CM योगी को अवगत कराया गया।
हाई कोर्ट ने सरकार को भी कार्रवाई के निर्देश दिए है।
बिजली विभाग के 22 लोगो के खिलाफ एस्मा के तहत कार्रवाई की जाएगी।
ऐसे लोगो को गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए है।
कुछ बिजली कर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है।
एस्मा के तहत कार्रवाई के साथ 6 लोगो को निलंबित कर उन्हें लखनऊ से बाहर सम्बद्ध करने के निर्देश दिए गए है।
1332 बिजली संविदाकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है।
जरूरत पड़ने पर हजारों संविदाकर्मियों को बर्खास्त किया जाएगा।
संविदाकर्मियों को 4 घंटे की शाम 6 बजे तक मोहलत दी जाती है।
शाम 6 बजे तक ड्यूटी पर न लौटने वाले सभी संविदाकर्मियों को बर्खास्त कर दिया जाएगा।
बर्खास्त संविदाकर्मियों की जगह पर प्रौद्योगिकी संस्थानों से जुड़े छात्रों की होगी नियुक्ति।

पहले छात्रों को ट्रेनिंग और फिर की जाएगी उनकी संविदाकर्मी के रूप में तैनाती।
सभी DM-SP, कमिश्नर को धन्यवाद देता हूँ।UP की जनता को नही होनी चाहिए कोई तकलीफ़।मैंने एक MD पर भी नाराजगी जताई,फिर पता चला कि पूरी रात MD भी जगकर कर रहे थे काम।कंट्रोल रूम की स्थापना कर लगातार उनका निरीक्षण किया जा रहा है।बिजलीकर्मियों की हड़ताल पूरी असफल रही है।पहले उन्हें समझाना हमारा दायित्व है,नही मानेंगे तो सख्त कार्रवाई होगी ए के शर्मा ऊर्जा मंत्री।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े