Wednesday, May 29, 2024
HomeLatest Newsप्लास्टिक युक्त चावल वितरित किए जाने का ग्रामीणों ने लगाया आरोप

प्लास्टिक युक्त चावल वितरित किए जाने का ग्रामीणों ने लगाया आरोप

 

 

           

               रिपोर्ट:वाइस एडिटर के के शुक्ल

नारद संवाद रामनगर बाराबंकी।रामनगर तहसील क्षेत्र अंतर्गत कई गांवो में कोटेदारों के द्वारा वितरित किए जा रहे राशन सामग्री चावल में ग्रामीणों ने मिलावटी प्लास्टिक युक्त चावल वितरित किए जाने का आरोप लगाया है।कार्ड धारक उपभोक्ताओं का कहना है कि कोटेदारों के द्वारा जानबूझकर मिलावट की जा रही है। जो सेहत के लिए भारी पड़ सकती है। लोगों का आरोप है कि देश की गरीब जनता को सरकार की तरफ से फ्री में राशन बांटा जा रहा है। लेकिन घोटालेबाज गरीबों के निवाले में मिलावटी चावल देकर घपला कर रहे हैं। कोटे की दुकान से मिलने वाले चावल में प्लास्टिक के चावल भी मिलाए गए हैं। जिसको ग्रामीण घंटों अलग करते हैं उसके बाद बाकी बचे चावल को खाने में प्रयोग कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि प्लास्टिक वाले चावल को बनाने के बाद वह खाने में अच्छा नहीं लगता है यहां तक कि बच्चे भी अब उसे खाना पसंद नहीं कर रहे हैं।इन चावलों का प्रयोग करने के बाद सेहत को लेकर भी चिंता बढ़ गई है। कोटे के चावल को धुलने के लिए पानी में डालने के बाद पानी में उतराने वाले चावल कुछ अलग तरीके के दिख रहे हैं। और जब यह चावल पकाया जाता है तो इसमें से चिपचिपा पदार्थ निकल रहा है। मोहल्ला कादीराबाद दो के निवासी बनवारी ने बताया मेरे घर पर कोटे की दुकान से लाए गए चावल पानी में धुले जा रहे थे। उस वक्त पानी मे उतराने वाले चावलों को देखा तो वह कुछ अलग तरीके के दिख रहे थे। इसके बाद कोटे से चावल लाने वाले मोहल्ले के तीन चार घरों में जाकर उनके चावल देखा तो अलग तरीके के दिखने वाले मिलावटी चावल सभी के वहाँ दिखायी पड़े। इस जानकारी के बाद लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है।इस संबंध में पूर्ति निरीक्षक रामनगर सुनील कुमार ने बताया अलग तरीके का दिखाई देने वाला चावल प्रोटीन युक्त है इससे किसी प्रकार का नुकसान नहीं है।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े