Wednesday, May 29, 2024
HomeLatest Newsरामनगर आत्महत्या पत्र लिखकर अज्ञात वृद्ध व्यक्ति ने ट्रेन की पटरी पर...

रामनगर आत्महत्या पत्र लिखकर अज्ञात वृद्ध व्यक्ति ने ट्रेन की पटरी पर लेट कर गंवाई अपनी जान

लोधेश्वर दर्शन करने आए श्रद्धालु का आत्महत्या पत्र पढ़ते पुलिसकर्मी

          वाइस एडिटर संपादक कृष्ण कुमार शुक्ल

रामनगर बाराबंकी।थाना रामनगर अंतर्गत एक लोधेश्वर दर्शन करने आए एक अज्ञात श्रद्धालु की शुक्रवार को ट्रेन से उरई जनपद से बाराबंकी के महादेवा लोधेश्वर दर्शन करने के लिए आया था।लोधेश्वर दर्शन करने के उपरान्त वापसी के समय शनिवार को करीब 2 बजे केशरी पुर रेलवे क्रासिंग समपार फाटक 303 से लगभग 100 मीटर की दूरी पर एक 60 वर्षीय अज्ञात वृद्ध ने अपनी जीवन लीला ट्रेन की पटरी पर लेट कर समाप्त कर ली।बता दे श्रद्धालु ने अपने झोले में सोसाइड नोट लिख कर रखा उसके बाद केशरी पुर रेलवे क्रासिंग लाइन पर लेटकर आत्महत्या कर ली।रामनगर थाने के उपनिरीक्षक गजेंद्र खरवार ने आनन फानन पहुंचकर पुलिस टीम के साथ शव को अपने कब्जे में लेकर रेलवे लाइन की पटरी से बाहर ले गए। उपनिरीक्षक विष्णु कुमार के द्वारा पंचनामा कर जिला मर्चरी शव को लिखा पढ़ी कर भेज दिया गया।

सुसाइड पत्र लिखकर अज्ञात श्रद्धालु ने की आत्महत्या

 आत्महत्या पत्र में लिखा था श्री मान स्टेशन मास्टर तुम्हे मेरा प्रणाम मुझे स्वांस व दमा की बीमारी की शिकायत है।मेरे झोले में 14300 रुपए रखे है।उसको लेकर मुझे जला देना फूंक देना।स्टेशन मास्टर तुम्हे अपने बच्चो की कसम है।किसी को भी मेरा शव मिले उसे अपने बच्चे की कसम है चार लोग मिलके मेरा अंतिम संस्कार करा देना।मुझे बहुत तकलीफ थी इसलिए जान दी है। आपके बता दे 60 वर्षीय वृद्ध के जेब से एक रेलवे का टिकट और 14300 रुपए नगद मिले हैं। रेलवे का टिकट भी मिला है जो उरई जिला से बाराबंकी जिले का कल की दिनांक का उसकी जेब में मिला है। एक शराब की बोतल 8 पीएम व झोले में दवाइयां और अन्य सामान मिला।वहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि काफी देर तक रेलवे क्रॉसिंग की पटरी पर बुजुर्ग व्यक्ति लेटा रहा लेकिन उसको किसी ने नहीं हटाया।

पीरेलवे क्रॉसिंग के आसपास जीआरपी जवान नहीं किए गए तैनात

एसडीएम रामनगर तान्या व क्षेत्राधिकारी डॉक्टर बीनू सिंह के निर्देश के बावजूद भी रेलवे क्रॉसिंग केसरीपुर पर जीआरपी जवान नहीं तैनात किया गया। अगर जीआरपी जवान तैनात किया जाता तो इस अज्ञात वृद्ध की जान नहीं जाती बड़ी लापरवाही रेलवे विभाग की उजागर हो रही है।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े