Saturday, April 20, 2024
HomeLatest Newsशहाबपुर नहर पटरी पर 30 वर्षीय अज्ञात व्यक्ति का रक्तरंजित शव मिलने...

शहाबपुर नहर पटरी पर 30 वर्षीय अज्ञात व्यक्ति का रक्तरंजित शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी का माहौल

 

               

           स्वतंत्र पत्रकार एडिटर कृष्ण कुमार शुक्ल

मसौली बाराबंकी। मसौली थाना क्षेत्र के शहाबपुर नहर पटरी पर बुधवार की सुबह लगभग 30 वर्षीय एक अज्ञात व्यक्ति का रक्तरंजित शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लेते हुए शव के शिनाख्त की कोशिश की परन्तु शिनाख्त नही हो सकी पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बुधवार की सुबह शहाबपुर के किसान अपने खेतों की ओर गये तो नहर पटरी के नीचे खाई में एक शव को देखकर ग्राम प्रधान अनीस अफ़ज़ाल अंसारी को सूचना दी ग्राम प्रधान की सूचना पर मसौली पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। मृतक सफेद पेंट, शर्ट व खाकी जैकेट पहने हुए था व उसके गर्दन एव सीने पर चाकू के निशान एवं मुंह से खून निकलकर चेहरा पर फैला हुआ था। शव मिलने की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण घटनास्थल पर जमा हो गए। घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक आसुतोष मिश्र, सीओ रामनगर डॉ0 बीनू सिंह, प्रभारी निरीक्षक शिवनरायन सिंह ने घटना स्थल का जायजा लिया तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

 मृतक के गले मे मिली रिवाल्वर की डोरी

 पुलिस ने मृतक के शरीर पर लगे चोट के निशानों का जायजा लिया तो मृतक के गले एव सीने पर चाकू के निशान मिले तथा गले मे रिवाल्वर की डोरी पड़ी हुई थी जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि हत्या से पूर्व मृतक का रिवाल्वर छीनने के बाद हत्या कर शव लाकर फेंका गया है। जमातलाशी में मृतक के पास से मात्र एक बाइक की चाभी बरामद हुई है।

 डॉग स्क्वायड एव फरसेंसिक टीम ने लिये नमूने

अज्ञात हालात में मिले नवयुवक की शिनाख्त के लिए मसौली पुलिस ने डॉग स्क्वायड का सहारा लिया मौके पर पहुंचा खोजी कुत्ता भी घटनास्थल तक ही सीमित रहा। फरसेंसिक टीम ने घटनास्थल के नमूने लेकर जांच में जुटी हुई हैं।

 अपराधियों के लिए मुफीद बनी नहर पटरी

बाराबंकी गोण्डा राष्ट्रीय राजमार्ग पर कस्बा शहाबपुर से पूर्व सुनसान स्थान पर निकली नहर अपराधियों के लिए मुफीद बनी हुई है। एक वर्ष पूर्व 6 दिसम्बर को भी इस स्थान के निकट एक युवक का शव बरामद हुआ था जिसकी बाद में शिनाख्त रामनगर थाना क्षेत्र के ग्राम बिंदौरा परसपुर निवासी राजेश वर्मा पुत्र रामप्रसाद के रूप में हुई थी मृतक शहर में रहकर राजमिस्त्री का काम करता था पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए मृतक के बहनोई प्रदीप कुमार वर्मा पुत्र बाबूराम एव उसके सहयोगियों को गिरफ्तार किया था जिसमे मृतक की पत्नी के गर्भ में पल रहे पुत्र की लालसा में हत्या की थी।

हाईवे निर्माण की भेंट चढ़ा पुलिस पिकेट बूथ

एक दशक पूर्व पुलिस विभाग ने हाईवे पर रात्रि गस्त के लिए मसौली थाना क्षेत्र के शहाबपुर नहर, पिपरौली मोड़ पर पुलिस बूथ का निर्माण कराया था जिसमे रात्रि गस्त के दौरान पुलिस कर्मी रुकते थे परन्तु 5 वर्ष पूर्व सड़क चौड़ीकरण के दौरान हटाये गये पुलिस बूथ का पुनः निर्माण नही कराया गया जिससे सुनसान स्थान पर स्थित नहर पटरी अपराधियों के लिए मुफीद बनी हुई है।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े