Wednesday, May 29, 2024
HomeLatest Newsमतदान में पीठासीन अधिकारी एवं मतदान कार्मिकों की अहम भूमिका होती है:...

मतदान में पीठासीन अधिकारी एवं मतदान कार्मिकों की अहम भूमिका होती है: डी एम सत्येंद्र कुमार

 

कृष्ण कुमार शुक्ल,नारद संवाद न्यूज बाराबंकी

बाराबंकी जिला अधिकारी सत्येंद्र कुमार झा मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षण के दौरान संबोधित करते हुवे।

बाराबंकी।जिला अधिकारी सत्येंद्र कुमार झा ने शुक्रवार को जीआईसी ऑडिटोरियम में मतदान कार्मिकों को दिए जा रहे प्रशिक्षण के सम्बंध में जानकारी ली और प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे मतदान कार्मिकों को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव को सकुशल संपन्न कराने में आप सब मतदान कार्मिकों की भूमिका महत्वपूर्ण रहती है।आप सभी लोग अच्छे से प्रशिक्षण प्राप्त करें और निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के क्रम में चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करते हुए मतदान प्रक्रिया को सकुशल संपन्न कराने में अपने दायित्वों का निर्वहन करें।कार्मिकों को निर्देशित किया की वो गंभीरता पूर्वक पूर्ण मनोयोग के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करें ताकि मतदान के दिन किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। साथ ही कहा कि मतदान में पीठासीन अधिकारी एवं मतदान कार्मिकों की अहम भूमिका होती है। मतदान के दौरान कोई भी ऐसा कार्य या आचरण ना करें, जिससे आपकी सत्यनिष्ठा पर उंगली उठ सके।प्रशिक्षण कार्यक्रम में गैर हाजिर मतदान कार्मिकों के विरुद्ध सम्बंधित थाने में एफआईआर दर्ज कराकर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के प्रावधानों के तहत दंडनीय कार्रवाई सुनिश्चित करने हेतु संबन्धित अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए। मतदान में पीठासीन अधिकारी की अहम भूमिका बताते हुए उन्हें निर्देश दिए कि वह अपनी जिम्मेदारी की अहमियत को समझ कर प्रशिक्षण के दौरान मतदान से संबंधित सभी जरूरी प्रक्रियाओं के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करें, ताकि सकुशल मतदान संपन्न कराने में उन्हें कोई असुविधा न हो।प्रशिक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अ०सुदन ने मतदान प्रक्रिया के बारे में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के बारे में पीठासीन तथा मतदान कार्मिकों को विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए कहा कि सभी मतदान कार्मिक एकजुट होकर पूरी जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन सुनिश्चित करें और इस महत्वपूर्ण कार्य में किसी भी प्रकार के लापरवाही ना बरती जाए,इसका सभी लोग खास ध्यान रखें।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में मतदान प्रक्रिया को बारीकी से समझने के लिए एक नाटक भी दिखाया गया। जिसमें पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी प्रथम, मतदाता अधिकारी द्वितीय और मतदान अधिकारी तृतीय की भूमिका को प्रदर्शित किया गया। प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर आशीष पाठक द्वारा पीठासीन एवं मतदान कार्मिकों को मतदान दिवस पर पोलिंग बूथ पर पोलिंग एजेंट की तैनाती, मतदान के लिए ईवीएम तैयार कर सील करने, पोलिंग एजेंट की मौजूदगी में मॉक पोल के बाद निर्धारित समय पर मतदान शुरू कराने के अलावा मतदान से संबंधित अन्य जरूरी प्रक्रिया एवं अभिलेखों को भरने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर द्वारा मतदान कार्मिकों की समस्यायों का समाधान भी किया गया। जीआईसी ऑडीटोरियम में प्रशिक्षण उपरान्त राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की कक्षाओं में पीठासीन एवं मतदान कार्मिकों को मतदान हेतु ईवीएम तैयार करके सील करने तथा अन्य आवश्यक प्रक्रियाओं के बारे में प्रशिक्षित किया गया और उन्हें रिहर्सल भी कराया गया।प्रशिक्षण के दौरान जिला विकास अधिकारी भूषण कुमार, परियोजना निदेशक मनीष कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष देव पांडेय,जिला विद्यालय निरीक्षक ओपी त्रिपाठी, उप जिलाधिकारी राजेश विश्वकर्मा, जिला प्रशिक्षण अधिकारी गरिमा सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी तथा कर्मचारी उपस्थित रहे।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े