Naradsamvad

जिला अधिकारी सत्येंद्र कुमार की अध्यक्षता में विकास कार्याे की समीक्षा बैठक सम्पन्न, अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश

बाराबंकी जिलाधिकारी सत्येंद्र कुमार सभी विभागों के अधिकारियोंके साथ समीक्षा बैठक करते हुवे

 

कृष्ण कुमार शुक्ल,नारद संवाद
बाराबंकी। जिलाधिकारी सत्येंद्र कुमार की अध्यक्षता में जनपद के विकास एवं लाभार्थीपरक योजनाओं सहित कृषि विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायतीराज, समाज कल्याण, पशुधन विकास, मत्स्य, मनरेगा, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग आदि द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं में प्रगति की स्थिति एवं अन्य सम्बंधित विभागों द्वारा कराये जा रहें कार्याे में प्रगति से सम्बंधित समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई।बैठक में कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं/कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री कुसुम योजना(सोलर पम्प योजना), खरीफ कार्यक्रम, बखिरा एग्रीकल्चर इन्वेस्टमेन्ट प्लान एवं आधुनिक कृषि सहित कृषि निवेश व्यवस्था के तहत फसली ऋण योजना, कृषि यंत्रीकरण एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय, किसान समृद्धि योजना सहित विभाग द्वारा संचालित समस्त योजनाओं में प्रगति एवं लक्ष्य के सापेक्ष वितरण आदि की स्थिति की आकड़ेवार समीक्षा की गयी। समीक्षा के दौरान जिला कृषि अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में मांग के अनुसार बीजों की पर्याप्त उपलब्धता है फिर भी आवश्यकतानुसार समय को देखते हुए उर्वरक एवं बीजों की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जा रही है। चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने आयुष्मान गोल्डन कार्ड की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की और आयुष्मान कार्ड लक्ष्य के सापेक्ष बनाने के निर्देश दिए। एंबुलेंस की समीक्षा करते हुए उन्होंने पाया कि 12000 से अधिक मरीजों को पिकअप की सुविधा दी गई है जिसके सापेक्ष केवल लगभग 7000 को ही ड्रॉप बैक किया गया है।जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि ड्रॉपबैक कम नहीं होना चाहिए।इसको शत प्रतिशत करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और अस्पतालों में इससे संबंधित जागरूकता पोस्टर लगाए जाए।पंचायती राज विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को सामुदायिक शौचालयों की संचालन व्यवस्था का रैण्डमली निरीक्षण करने का निर्देश दिया।उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में निर्मित सामुदायिक शौचालयों को क्रियाशील रखा जाए।औचक निरीक्षण के दौरान सामुदायिक शौचालयों में ताला बंद पाये जाने पर सम्बंधित ग्राम प्रधान एवं ग्राम पंचायत सचिव के विरूद्ध तत्काल कार्यवाही की जाए। जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा बताया गया कि सामुदायिक शौचालय योजना के तहत निर्मित 685 सामुदायिक शौचालयों का सत्यापन कराने के बाद 32 में विभिन्न कमियां पायी गयी है जिसे गम्भीरता से लेते हुए सम्बंधित प्रधान एवं सचिव को सख्त निर्देश दिये कि अबिलम्ब कमियों को दूर करवाकर शौचालय को क्रियाशील किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपदस्तरीय अधिकारियो द्वारा निरीक्षण के दौरान जिन जिन ग्राम पंचायतों में अधिक हैंडपंप खराब पाए जाने पर संबन्धित सचिव के विरुद्ध विभागीय कार्यवाई की जाएगी। अधिशासी अभियन्ता सिंचाई विभाग को निर्देशित किया गया की सभी नहरों व टेलो में पानी समय से पहुंचाना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता विद्युत विभाग को निर्देशित किया कि गर्मी का मौसम है बिजली कटौती न की जाए व अगर कही ट्रांसफर जल गया हो तो उसे तत्काल ठीक कराए।
जिलाधिकारी ने समीक्षा बैठक के दौरान सभी जनपद स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उनके विभाग से सम्बंधित लाभार्थीपरक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं, निर्माण कार्याे के क्रियान्वयन में गुणवत्ता एवं आच्छादन/प्रगति की समीक्षा स्वयं सम्बंधित क्षेत्रों/गॉवों में भ्रमण कर करना सुनिश्चित करें।
समीक्षा बैठक में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी से जनपद में निराश्रित गोवंशों के संरक्षण की स्थिति, गोशालाओं का निर्माण, हरे चारे की उपलब्धता, चारे की बुआई हेतु जमीन की उपलब्धता, पशुओं का टीकाकरण, मा0 मुुख्यमंत्री सहभागिता योजनान्तर्गत गोवंशों की सुपुर्दगी, जनपद मे अण्डा उत्पादन, कृत्रिम गर्भाधान सहित विभाग द्वारा संचालित समस्त योजनाओं की गहन समीक्षा की गयी।
समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी द्वारा विभागवार समीक्षा करते हुए दिव्यांजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा प्रत्येक विकास खण्डों में दिव्यांग पेंशन का सत्यापन, विधवा पेंशन का सत्यापन, वृद्धावस्थ पेंशन का सत्यापन, छात्रवृत्ति वितरण, किसान सम्मान निधि, जिला पूर्ति, मत्स्य पालन, पट्टा आवंटन, शादी अनुदान योजना, कम्प्यूटर प्रशिक्षण योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, कार्यदायी संस्थाओं द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्य आदि सहित कार्याे की गहन समीक्षा की गयी।
समीक्षा के दौरान बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, बाल विकास एवं पुष्टाहार, अल्पसंख्यक कल्याण, पिछड़ा वर्ग कल्याण, समाज कल्याण एवं मनरेगा द्वारा संचालित योजनाओं/निर्माण कार्यो की विस्तृत समीक्षा की गयी।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अ. सुदन, प्रभागीय वनाधिकारी वधावन, अपर चिकित्साधिकारी डा0 डी के श्रीवास्तव, जिला विकास अधिकारी भूषण कुमार, परियोजना निदेशक डीआरडीए मनीष कुमार, उपायुक्त उद्योग आशुतोष , जिला कृषि अधिकारी राजित राम, जिला बेकिस शिक्षा अधिकारी सन्तोष देव पांडेय, जिला समाज कल्याण अधिकारी एस पी सिंह, सहित सम्बंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहें।

अन्य खबरे

गोल्ड एंड सिल्वर

Our Visitors

201716
Total Visitors
error: Content is protected !!