Naradsamvad

फर्जी मुकदमे से अधिवक्ता का नाम पृथक किए जाने को एस पी को सौंपा ज्ञापन

फर्जी मुकदमे से अधिवक्ता का नाम पृथक किए जाने को सौंपा ज्ञापन

 

अधिवक्ताओं ने पुलिस कप्तान को एक शिकायती प्रार्थना पत्र देकर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमे से नामित अधिवक्ता का नाम पृथक कराए जाने की करी मांग

 

             रिपोर्ट:वाइस एडिटर के के शुक्ल

रामनगर बाराबंकी।रामनगर पुलिस बिना जांच किए ही एक अधिवक्ता पर फर्जी मुकदमा दर्ज कर दिया। जिसका विरोध करते हुए रामनगर तहसील बार के अध्यक्ष महामंत्री ने पूर्व में डीएम एसपी को ज्ञापन दे चुके है की अधिवक्ता पर पुलिस ने गलत मुकदमा दर्ज किया है इसका नाम निकाला जाए।वही आज जनपद बाराबंकी के अधिवक्ताओं ने पुलिस कप्तान दिनेश कुमार सिंह को एक शिकायती प्रार्थना पत्र देकर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमे से नामित अधिवक्ता का नाम पृथक कराए जाने की मांग की है। मामला थाना रामनगर के स्थानीय कस्बे का है। यहां के रहने वाले लवकेश शुक्ला पेशे से अधिवक्ता व पत्रकार भी है तथा दैनिक तरुण मित्र समाचार पत्र के विधि संवाददाता भी हैं इनके साले की पत्नी कल्पना त्रिवेदी निवासी देवकलिया थाना जहांगीराबाद से पारिवारिक विवाद चल रहा था 8 अक्टूबर 2022 को कल्पना त्रिवेदी ने दहेज अधिनियम के तहत संबंधित थाने पर मुकदमा कराया था जहां पर 3 लाख रूपये नगद समस्त जेवरात वापस लेकर विपक्षी ने स्वयं सुलहनामा समबन्धित थाने के सुपुर्द कर दिया। रामनगर पुलिस ने अंतिम रिपोर्ट सक्षम न्यायालय में पेश किया 7 फरवरी 2023 को कल्पना त्रिवेदी ने मोबाइल नंबर 8127271492 से अधिवक्ता लवकेश कुमार शुक्ल के मोबाइल नंबर 9838960100 पर फोन कर फर्जी फंसाने की धमकी दिया। जिसकी ऑडियो रिकॉर्डिंग अधिवाक्ता के पास मौजूद है।15 फरवरी 2023 को फर्जी तथ्यों के आधार पर पुनः रामनगर थाने में शिकायत दर्ज कराई जिस पर थाना हाजा पुलिस ने कोई आपत्ति नहीं की बगैर सत्यता की जांच किए गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया जिससे अधिवक्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। उक्त प्रकरण को संज्ञान में लेते हुए जनपद के अधिवक्ताओं ने महामंत्री रितेश कुमार मिस्र के नेतृत्व में पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती प्रार्थना पत्र देकर उक्त प्रकरण से अधिवक्ता का नाम पृथक किए जाने की मांग किया है।

इस मौके पर जिला बार एसोसिएशन के महामंत्री रितेश मिश्र,मो ताहिर, सहर बानो,मो अल्तमस,मनोज कुमार तिवारी,शशांक त्रिपाठी, शशिकांत अवस्थी,रामसजीवन वर्मा, सुनील यादव,रामनगर बार एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ कुलदीप शुक्ल सहित तमाम अधिवक्ता मौजूद रहे।

 

पुलिस अधीक्षक ने दिया आश्वासन

 

इस दौरान पुलिस अधीक्षक बाराबंकी ने आश्वासन देते हुए कहा कि अधिवक्ता निर्दोष है तो उसका नाम मुकदमे से पृथक कर दिया जाएगा किसी निर्दोश को जेल नहीं भेजा जाएगा।

 

क्या बोले बार एसोसिएशन रामनगर के महामंत्री

 

 

अशोक उपाध्याय ने बताया कि लवकेश शुक्ल फर्जी फसाये गए है वह निर्दोष हैं पत्राचार किया गया है यदि न्याय नही मिलेगा तो आंदोलन शुरू किया जाएगा

 

क्या बोले बार एसोसिएशन रामनगर के अध्यक्ष

 

अनिल दीक्षित ने बताया कि लवकेश शुक्ल को अराजकतत्वों के द्वारा षडयंत्र करके फंसाया गया है जो गलत है हम किसी भी स्तर पर न्याय की लड़ाई के लिए तैयार हैं।

अन्य खबरे

गोल्ड एंड सिल्वर

Our Visitors

201308
Total Visitors
error: Content is protected !!