पूर्व प्रधान व पंचायत सचिव ने विकास के नाम पर किया सरकारी धन का बंदरबाट

0
487

रामनगर/बाराबंकी

विकासखंड रामनगर की ग्राम पंचायत कांप फतेउल्लापुर में कई दर्जन ग्रामीणों ने पूर्व प्रधान व पंचायत सचिव पर विकास कार्य के नाम पर पचासों लाख रुपए का बंदरबांट किए जाने का आरोप लगाते हुए खंड विकास अधिकारी अमित त्रिपाठी को प्रार्थना पत्र सौंपकर जांच कराए जाने तथा गबन किए गए धन की वसूली किए जाने की गुहार लगाई है। मामला विकासखंड रामनगर की ग्राम पंचायत कॉप फतेउल्लापुर का है जहां के पैरु लाल चंद्रशेखर कमलेश रामप्रसाद प्रताप नारायण सहित दर्जनों ग्राम वासियों ने खंड विकास अधिकारी अमित कुमार त्रिपाठी को दिए गए पत्र में कहा है।कि निवर्तमान प्रधान नागेंद्र सिंह उनके पिता रोजगार सेवक बराती लाल गौतम व पंचायत सचिव ज्ञान प्रकाश सिन्हा ने सांठगांठ कर योजनाबद्ध तरीके से विकास कार्यों के नाम पर सरकारी धन निकाल कर फर्जी बाउचर लगाकर सारा पैसा बंदरबांट कर लिया है। गांव निवासी सहज राम गौतम पुत्र सीताराम के घर से गंदा नाला तक नाली निर्माण के नाम पर धन निकाल लिया जबकि नाली निर्माण हुआ ही नहीं। 2015 से 2020 तक वृक्षारोपण के नाम पर 2लाख रुपए से अधिक की धनराशि सरकारी खाते से निकाल लिए जबकि वृक्षारोपण हुआ ही नहीं।गांव में ब्रह्मचारी बाबा के पेड़ से इटहुवा तक खड़ंजा कार्य पूरा नहीं हुआ लेकिन ₹3लाख निकाल लिए गए। देवता दीन व प्रताप नारायण कॉप फतेउल्लापुर भगवती पुर निवासी विमलेश कुमार तथा रामचंद्र पुत्र शिवचरन गौतम जो पूर्व प्रधान के चाचा हैं इन लोगों के खेत में वृक्षारोपण करने के नाम पर लाखों रुपए हड़प लिए गए जबकि वृक्षारोपण हुआ ही नहीं। सरकारी नलकूप से तलिया व पेना तालाब तक सरकारी नाली बनाने के नाम पर सरकारी धन हड़प लिया लेकिन नाली का निर्माण नहीं हुआ। दस्तगीर फकीर पुत्र मंसूर के यहां बकरी पालन के नाम पर टीन सेट निर्माण दिखाकर सारा धन हड़प कर लिया जबकि टीन सेट का निर्माण कार्य ही नहीं हुआ। श्यामलाल पुत्र छेदन बक्सोर के गो आश्रय स्थल के निर्माण पर धन निकाल कर हड़प लिया लेकिन निर्माण नहीं हुआ। प्राइमरी पाठशाला के प्रांगण का समतलीकरण कराने के नाम पर सरकारी धन का बंदरबांट किया गया जबकि समतलीकरण का कार्य ही नहीं किया गया। सरकारी नल से नाला तक नाली निर्माण व ढक्कन निर्माण कार्य न करवाकर फर्जी तरीके से धन हड़प लिया गया। इसी तरह से तालाब खुदाई के नाम पर खुदाई न कराकर ₹6लाख हड़पे ।स्वच्छ भारत मिशन के तहत डेढ़ सैकड़ा से अधिक शौचालय निर्माण दिखाकर सारा पैसा निकाल लिया जबकि मौके पर आधे से अधिक शौचालय अधूरे पड़े हैं। पंचायत भवन के सुंदरीकरण के नाम पर चार लाख तीस हजार रुपए निकाल कर नाम मात्र का कार्य कराया। हैंडपंपों के मरम्मत के नाम पर ₹54हजार का घोटाला किया।इस तरह पूर्व ग्राम प्रधान व उनके पिता रोजगार सेवक बराती लाल तथा पंचायत सचिव ज्ञान प्रकाश सिन्हा ने विकास कार्यों में कई लाख रुपयो का घोटाला किया है। जिसकी जांच करा कर गबन किए गए धन की वसूली की मांग की गई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए खंड विकास अधिकारी अमित कुमार त्रिपाठी ने 7 सदस्य टीम जिसमें एडीओ पंचायत रामआसरे एडीओ कृषि अनिल कुमार बी ओ सुनील कुमार यादव एपीओ जे ई एम आई टी ए राजेंद्र प्रसाद अमर सिंह को प्रार्थना पत्र सौंप कर शीघ्र निष्पक्ष जांच किए जाने के निर्देश दिए हैं ।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here