भगवान की भक्ति से ही समस्त मानव जगत का कल्याण सम्भव- स्वामी सत्यानंद जी महाराज

0
165

रिपोर्ट-अनुराग राजू मिश्रा उर्फ बाबा जी

जलालाबाद।अखिल भारतीय सोहम महामंडल के तत्वावधान में चल रहे सप्त दिवसीय सत्संग समारोह के आज पांचवे दिन सोहम पीठाधीश्वर श्री स्वामी सत्यानंद जी महाराज ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान से जीव का कल्याण सम्भव है।
कलिकाल में भगवान के नाम का ही आधार लेने योग्य है।परमात्मा के नाम में अपार शक्ति है जिसके कारण अंतःकरण शुद्ध होता है।ध्रव प्रहलाद, नारद, सनकादि सभी भगवान के नाम का अमृत ग्रहण करते आये हैं।इतना ही नही अजामिल रतनाकर अंगलिमाल गोवर्धन जैसे जैसे डाकू भी भगवान का नाम लेकर अपना कल्याण कर चुके हैं।इसलिए हमें सदैव भगवान का नाम लेना चाहिए जिससे हमारा कल्याण हो सके।
सत्संग की श्रृंखला में श्री स्वामी ज्ञानानंद ने सुन्दरकाण्ड को सुनाते हुए बताया कि मोह ममता ही बंधन का कारण है यह मोह ममता अपने बंधु बांधव परिवार धनादि में होती है।यदि यही मोह ममता को एकत्रित करके परमात्मा के चरणों में लगाना चाहिए।
स्वामी प्रीतमदास जी ने कहा कि अनेकों प्रकार के जंजाल अर्थात सांसारिक समस्याओं से बचने के लिए भगवान की भक्तिरस का पान करना चाहिए।
स्वामी प्रणवानंद जी ने पुंडलीक भक्त की पितृ भक्ति पर प्रकाश डाला है इसके अतिरिक्त स्वामी प्रज्ञानंद ने कृष्ण गोपियों के प्रेम भक्ति की चर्चा की।
स्वामी अनंतानंद जी ने काम क्रोध लोभादि को दूर करने के उपायों पर प्रकाश डाला इसी क्रम में भगवान परशुराम मंदिर के महंत सत्यदेव पाण्डेय ने अपने विचार व्यक्त किये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here