सिंचाई विभाग की घोर लापरवाही के चलते किसानों की फसल चढ़ी भ्रष्टाचार की भेंट

0
280

 रामनगर/बाराबंकी

विकासखंड रामनगर अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत मोहारी मजरे करन्धा के पास नहर पर हो रहे पुलिया निर्माण में पीले ईटे व घटिया मसाला का इस्तेमाल कर निर्माण किया जा रहा था। जिसके चलते पुलिया के कट जाने से खेतो में पानी भर गया। किसानों की आलू की सैकड़ों बीघे फसल नष्ट हो गयी। फसल नष्ट हो जाने से किसानो में जेई और ठेकेदार के खिलाफ काफी रोष व्याप्त है ।जानकारी के मुताबिक सिंचाई विभाग की घोर लापरवाही और भ्रष्टाचार के चलते किसानो की सैकड़ों बीघे आलू की फसल बरबाद हो गयी।पीड़ित किसानो ने प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ से जांच करवा कर उचित कार्यवाही एंव मुआवजा दिलवाये जाने की मांग की है।प्राप्त विवरण के अनुसार तहसील रामनगर के अन्तर्गत बिलखियां माइनर के पास बन रही निर्माणाधीन पुलिया के किनारे से माइनर कट जाने के चलते सैकड़ों बीघा आलू की फसल पानी के भराव से नष्ट हो गई।सिंचाई विभाग के द्वारा करन्धा गांव के पास माइनर पर पुलिया का निर्माण कराया जा रहा था।जिसमें मानक विहीन घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा था।जिसके चलते पुलिया के पास बीते शनिवार की रात माईनर कट जाने के चलते करन्धा ग्राम के किसानों की सैकड़ों बीघा आलू की फसल जल मग्न होकर नष्ट हो गई किसानों ने नष्ट हुई फसल की सिंचाई विभाग से मुआवजे की मांग की है।बहराल सिंचाई विभाग के भ्रष्टाचार व लापरवाही के चलते किसानों का सब कुछ लुट गया करन्धा निवासी अखिलेश का लगभग 40 बीघे सहित अन्य किसानों का कुल सैकड़ों बीघे आलू की फसल नष्ट हुई है।सिंचाई विभाग के अवर अभियंता व ठेकेदार को ग्रामीण जिम्मेदार बता रहे थे।वही माईनर मे छीली गई घास और पीली ईट और महाघटिया मसाले से बन रही पुलिया सारी कहानी स्वंय कह रही है।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here