एस.एम.आई.की लापरवाही के चलते कोटेदारों के यहां नहीं पहुंची वितरण हेतु राशन एवं अन्य सामग्री

0
372

रामनगर/बाराबंकी

तहसील रामनगर मे तैनात एस एम आई की लापरवाही के चलते निर्धारित अवधि मे कोटेदारों के यहां वितरण हेतु राशन एवं अन्य सामग्री नहीं पहुंच सकी।ऐसा तब हुआ जब प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना के श्री गणेश मे कोई कसर न रखकर तय समय से राशन वितरण के लिये सख्त दिशा निर्देश दे रखे थे।मालूम हो कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा प्रदेश मे राशन कार्ड धारक उपभोक्ताओं को मार्च 2022 तक मुफ्त राशन दिये जाने की घोषणा के बाद सरकार के द्वारा दिसंबर महीने से पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को 3 किलो चावल 2 किलो गेहूं 1 किलो रिफाइंड तेल 1 किलो चना एक पैकेट नमक एवं लाल कार्ड धारकों को मिलने वाला 35 किलो राशन मुफ्त दिये जाने की घोषणा की गई है।इसके लिए मुख्यमंत्री ने सरकार के मंत्रियों सांसदों विधायकों ब्लॉक प्रमुखों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों से निगरानी वितरण शुरु कराये जाने के निर्देश भी जारी है।वितरण के लिये सरकार के द्वारा 12 दिसंबर से 20 दिसंबर तक की तिथि भी निर्धारित की गई थी परंतु रामनगर में तैनात एस एम आई की शिथिलता एवं लापरवाही के चलते 35 कोटेदारों के यहां राशन व अन्य सामग्री नहीं पहुंच पाई।परिणाम स्वरूप उन दुकानों पर वितरण प्रारंभ नहीं हो सका जिससे मुख्यमंत्री की मंशा पर पानी फिर गया।गैर कार्ड धारकों को निराश होकर कोटेदारों के यहां से लौटना पड़ा गल्ला गोदाम पर पहुंचकर संवाददाता ने देखा की ट्रैक्टर टालियों पर आज चावल गेहूं लादा जा रहा था।एस एम आई नदारद थे।उनका मोबाइल फोन बंद था मौके पर दो प्राइवेट आदमी अभिलेखों में लिखा पढ़ी कर रहे थे।पूछने पर पता चला एस एम एस आई ने दो लोगों को काम देखने के लिये लगाया था।इस बाबत चाहे जाने पर पूर्ति निरीक्षक रामनगर ने बताया कि ऐसा कार्य की व्यस्तता के चलते हुआ है जहां राशन नहीं पहुंच पाया वहां आज भेजा जा रहा है।

रिपोर्ट/ कृष्ण कुमार शुक्ल/ अशोक सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here