महादेवा स्थल में चतुर्दशी मेला मनाये जाने के संबंध में महंत ने उपजिलाधिकारी को डाक द्वारा दिया ज्ञापन

0
173

रामनगर/बाराबंकी

तहसील रामनगर के प्रसिद्ध लोधेश्वर महादेवा मंदिर में   चतुर्दशी का मेला शिव तीर्थ महादेवा में महादेव का परंपरागत प्रकोटत्सव महंत बीपी दास व जगजीवन दास सतनाम सेवा ट्रस्ट के द्वारा उप जिलाधिकारी केडी शर्मा के नाम डाक द्वारा ज्ञापन दिया। ज्ञापन द्वारा उन्होंने अवगत कराया कि उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध शिवतीर्थ महादेवा में अगहन माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को लोधेश्वर महादेवा प्रकोटत्सव मनाए जाने की परंपरा है। वर्ष 2020 में सदियों पुरानी परंपरा कोरोना काल के कारण खंडित हुई है।आयोजन महादेवा मेले का सुभारम्भ जिला अधिकारी के द्वारा फीता काटकर किया जाता है।गौर तलब यह है कि देवा मेला महोत्सव2020 की परम्परा मजार पर चादर पोसी का पूर्ण रुपेड़ पालन किया गया। जिसकी कवरेज मीडिया के द्वारा किया और कराया गया।वही इस वर्ष मेला के आयोजनों की धूम है।विगत 28 अक्टूबर से 3 नवम्बर तक जिला प्रशासन की पहल पर बाराबंकी जी आई सी ऑडिटोरियम में दीपावली का मेला कराया गया।इस मेले का सुभारम्भ भाजपा सांसद के द्वारा किया गया।फिर महादेवा मेला का आयोजन क्यो नही हो सकता है।प्रदेश भर में मेले की धूम है राजनीतिक सभाओ व रैलियों के आयोजन निर्बाध हो रहे है तो फिर कोटि-कोटि जनमानस के ईष्टदेव भगवान संकर भोलेनाथ महादेव का प्रकोटत्सव क्यो नही हो सकता है।ज्ञापन के द्वारा की करोड़ों करोड़ हिंदू जनमानस की भावनाओं के दृष्टिगत प्रकोष्ठ परंपरा का कार्यक्रम 2 दिसंबर 2021 से आयोजित कराने का कष्ट करें। धार्मिक परंपरा का प्रशासन द्वारा तिरस्कृत किया जाना कोटि- कोटि जनमानस के भावनाओं का अनादर एवं गंभीर विषय है।प्रशासन द्वारा लोधेश्वर महादेव के प्रकोटत्सव आयोजन की उपेक्षा की गई।और आयोजन नहीं कराया गया तो मजबूरन धरना देने पर विवश होंगे।मेला न होने से लोगो मे चर्चा का विषय बना हुआ।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here