बाराबंकी:प्रदेश स्तरीय किसान ट्रैक्टर रैली,निकालकर रामबाबू द्विवेदी ने योगी मोदी की योजनाओं का प्रेस वार्ता कर किया बखान।

0
153

ब्यूरो रिपोर्ट:-कृष्ण कुमार शुक्ल/मंडल हेड बाराबंकी।

जनपद बाराबंकी से शुरुआत कर 16 नवंबर से 30 सितंबर 2021 तक भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा संपूर्ण उत्तर प्रदेश के जिला मुख्यालय पर विशाल किसान ट्रैक्टर रैली का शुभारंभ करने जा रहा है,उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में विभिन्न तिथियों को यह किसान ट्रैक्टर रैली निकलेगी जिसका शुभारंभ जनपद मऊ से प्रदेश किसान मोर्चा अध्यक्ष कामेश्वर सिंह करेंगे ट्रैक्टर किसानों की उन्नत प्रगति का प्रतीक है।आज किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री रामबाबू द्विवेदी की अध्यक्षता में बाराबंकी किसान मोर्चा टीम के साथ प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया।जिसमे किसानों की समस्याओं के निराकरण एवं किसान हितकारी योजनाओं के क्रियान्वयन पर कई प्रश्नों का उत्तर देते हुए रामबाबू द्विवेदी ने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी जी के नेतृत्व में प्रदेश की सरकार ने किसानों के हित में जितने निर्णय लिए हैं उतने अभी तक किसी सरकार ने नहीं लिए हैं,4 वर्षों में गन्ना मूल्य का रिकॉर्ड भुगतान, बंद चीनी मिलों को चलाना तथा नई चीनी मिलों को लगाकर योगी ने ऐतिहासिक कार्य किया है 2017 में भाजपा सरकार बनने के बाद प्रथम कैबिनेट की बैठक में ही योगी ने लगभग 86 लाख किसानों को 36 हज़ार करोड़ का कृषि ऋण माफ करने के साथ ही बिजली का सरचार्ज भी माफ किया।योगी आदित्यनाथ ने डार्क जोन में बंद बिजली के कनेक्शन को पुनः ट्यूबेल हेतु खोलकर लाखों किसानों के हित में बहुत बड़ा निर्णय लिया है 4 वर्ष में योगी सरकार ने 3 नई चीनी मिलें लगाई 14 नए डिस्टलरी भी खोलें।चीनी मिलों की क्षमता वृद्धि का आधुनिकीकरण किया 4 वर्ष में ही सरकार के प्रयास के कारण गन्ने की खेती का क्षेत्रफल 20 लाख हेक्टेयर से बढ़कर ₹28लाख हेक्टेयर हो गया पिछले 4 वर्षों में उत्तर प्रदेश चीनी उत्पादन तथा एथेनॉल उत्पादन में देश में नंबर एक स्थान पर रही।योगी सरकार ने 4 वर्षों में ही 66 हजार करोड़ का खाद्यान्न किसानों से खरीदा जो अपने आप में ही ऐतिहासिक है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कृषक दुर्घटना बीमा योजना के कारण किसानों के परिवारों को बहुत सहायता मिल रही है।उत्तर प्रदेश में किसानों के खेतों की मिट्टी की गुणवत्ता की जांच हेतु 4 करोड किसानों को मुर्दा हेल्थ कार्ड जारी किया गया जिसका प्रयोग करके किसानों ने अपनी उत्पादन क्षमता में वृद्धि की है, उत्तर प्रदेश में एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड योजना के अंतर्गत गोदामों व कोल्ड स्टोरेज का जाल बिछाया जा रहा है जिसने किसानों की उपज के लिए सुरक्षा कवच का कार्य किया हैं।27 मंडियों का आधुनिकीकरण किया गया तथा 27 मंडियों में कोल्ड चैन व राइटिंग चेंबर का निर्माण किया गया है अमरोहा वाराणसी में मंडी परिषद द्वारा इंटीग्रेटेड तथा उसकी स्वीकृति दी गई है इस प्रकार राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना में मंडियों के माध्यम से मंडी परिषद की आय में 886 करोड़ की अभूतपूर्व वृद्धि हुई है।
20 नए कृषि विज्ञान केंद्रों की स्थापना की गई है दम मिलियन फॉर्मेट स्कूल में 5500000 यदि किसानों को प्रशिक्षण दिया गया है तथा किसान को उच्च गुणवत्ता के फल एवं सब्जी के पौधे उपलब्ध कराने के लिए हापुर मऊ बहराइच अलीगढ़ फतेहपुर रामपुर अंबेडकरनगर में शाम मिनी सेंटर आफ एक्सीलेंस स्थापित किया गया है भारत सरकार के अखिल भारतीय मार्केटिंग होटल इन रामपुर उत्तर प्रदेश से जुड़ा है तथा 291 वर्चुअल मंडियों के माध्यम से प्रदेश के 8700000 किसान को 34000 वेबसाइट जुड़कर व्यापार कर रहे हैं 45000 के कृषि उत्पादन मंडी शुल्क से मुक्त कर दिए गए हैं इधर मंडी शुल्क भी 1.5% घटाया गया है पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत प्रदेश में अब तक 23552 सोलर पंप स्थापित किए गए हैं इससे किसानों की डीजल और बिजली पर निर्भरता कम हो रही है।किसानों को कृषि यंत्रों पर मूल्य का 50% अनुदान दिया जा रहा है तथा एक्टिव पंजीकृत किसान समिति पंजीकृत स्वयं सहायता समूह को कृषि मशीनरी Bank स्थापित करने के लिए यंत्रों पर 80% अनुदान दिया जा रहा है वह 2017-18 से आज तक फॉर्म मशीनी बैंक के अंतर्गत 2183 तथा कस्टमर हायरिंग सेंटर के अंतर्गत 3362 कुल 5548 ट्रैक्टर उत्तर प्रदेश के किसानों को वितरित किए गए हैं।देश के सभी जनपदों में अटल भूजल योजना पर आधारित ड्रॉप फॉर मोर क्रॉप प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना लागू है बुंदेलखंड में प्रदेश सरकार की क्रांतिकारी खेत तालाब योजना अंतर्गत किसानों को जल संचयन व भूमि जल स्तर बढ़ाने के लिए डीबीटी के माध्यम से छोटे तालाब हेतु 52500 बड़े तालाब हेतु 114000 का अनुदान दिया जा रहा है जिससे ना केवल उत्पादन बढ़ा है बल्कि जल के विकराल संकट पर भी नियंत्रण हुआ है बुंदेलखंड में जल संसाधनों के विकास के लिए इंडो इजराइल वाटर प्रोजेक्ट हेतु एमओयू हस्ताक्षरित हो चुका है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में पिछले कुछ वर्षों में जितने काम हुए हैं उतने आजादी के 70 सालों में भी नहीं हुए फसल बीमा योजना में सुधार SB को डेढ़ गुणा करना छोटे किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड की व्यवस्था विश्व भर में महंगी हुई डीएपी व यूरिया की खाद को खुद से सब्सिडी बढ़ाकर किसानों को पुराने दामों पर ही देने का सराहनीय निर्णय सोलर पावर से जुड़ी योजनाएं हर खेत तक पानी पहुंचाने की पहल एपीओएस का गठन इन सभी प्रयासों से किसानों की आय दोगुनी करने में सार्थक पहल हुई है अभी हाल में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 35 नई फसलों की बैटरी को राष्ट्र को समर्पित किया है देश के 70 से ज्यादा रेल रूटों पर किसान रेल चल रही है किसान सम्मान निधि के तहत 9 किस्तों में 1.53 लाख करोड़ रुपए से अधिक की सहायता राशि सीधे किसानों के अकाउंट में पहुंचाई जा चुकी है।पशु एंबुलेंस को पशुपालक के द्वार पहुंचाने हेतु मोदी सरकार ने 58000 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट जारी किया है किसानों के लिए समर्पित भाव से काम करने वाली भारतीय जनता पार्टी की केंद एवं सरकार किसानों के लिए प्रतिबद्ध है और उनकी आय को दोगुना करने के लिए निरंतर सभी संभव प्रयास करती रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here