सरकार के तमाम प्रयासों के बाद भी शिक्षक समय से नहीं पहुंच रहे स्कूल,जिम्मेदार,मौन

0
158

रामनगर/बाराबंकी

बाराबंकी की तहसील रामनगर के अंतर्गत ग्राम अमलोरा में समय से प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक न पहुंचने पर तमाम ग्रामीणों का शिक्षक के खिलाफ काफी रोष व्याप्त है। ग्रामीणों का कहना है एक तरफ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विद्यालयों के कायाकल्प से लेकर बच्चों के उच्च शिक्षा प्राप्त करने तक ठोस कदम उठा रहे हैं।वहीं दूसरी तरफ बच्चों के भविष्य के साथ शिक्षकों द्वारा खिलवाड़ किया जा रहा है शिक्षकों द्वारा समय पर स्कूल ना जाने की आये दिन कोई न कोई खबर प्रकाशित होती रहती है।लेकिन जिम्मेदार अधिकारी विद्यालय की तरफ ध्यान नही कर पा रहे है।शनिवार को प्राथमिक विद्यालय अमलोरा में लगभग ग्यारह बजे तक एक भी शिक्षक विद्यालय नहीं पहुंच सका।विद्यालय में बच्चे कुछ तो अपने कमरे में थे और वही कुछ इधर-उधर घूम रहे थे।रसोईया खाना बनाने की तैयारी में लगी हुई थी जब संवाददाता ने बच्चों से पूछा कि अभी तक आपके शिक्षक नहीं आए तो उन्होंने बताया कि ये रोज का मामला है इसी तरह से कुछ तो आते हैं और कुछ नहीं आते। खंड शिक्षा क्षेत्र की यह तो मात्र बानगी भर है।इस विषय में जब खंड शिक्षा अधिकारी से संपर्क बनाने का प्रयास किया गया तो उनका फोन नहीं लगा परंतु कुछ देर बाद फोन लगा और उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में है देर से आने वाले शिक्षकों पर कार्यवाही की जाएगी।वही कई प्राथमिक विद्यालयों का पहले भी ऐसा ही प्रकरण सामने आया था पर खंड शिक्षा अधिकारी रामनगर संजय राय ने कहा था कि समय से स्कूल में शिक्षकों का ना पहुंचना व बिना छुट्टी के स्कूल ना आने पर शिक्षकों पर कार्यवाही की जाएगी पर किसी भी शिक्षक पर कोई कार्यवाही नहीं की गई।अब सवाल उठना लाजमी है कि खंड शिक्षा अधिकारी रामनगर संजय राय की कार्यशैली कैसी है। यदि खंड शिक्षा अधिकारी स्वयं स्कूलों का निरीक्षण कर कार्यवाही करते तो बच्चों की शिक्षा का परिणाम कुछ और ही होता। वही स्कूलों में शिक्षकों का देर से आने व ना आने से क्षेत्र की जनता में काफी आक्रोश व्याप्त है। अब देखना यह है कि मामला शिक्षा खंड अधिकारी तक पहुंचने के बाद शिक्षकों पर कार्यवाही की जाती है।या ऐसे ही खानापूर्ति की जाती है।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here