बाराबंकी:बांसा शरीफ नौचंदी मेले में शुलभ शौचालय न होने से खुले में शौच करने को मजबूर हैं- जायरीन

0
137

मसौली बाराबंकी। क़स्बा बांसा शरीफ स्थित सूफ़ी सन्त सैय्यद अब्दुर्रज्जाक( शाह) की मजार शरीफ पर नौचंदी मेले पर जायरीनों की भारी भीड़ रही।दूरदराज से आये हजारों जायरीनों ने बाबा की मजार पर माथा टेक कर मन्नत मांगी।
उल्लेखनीय हो कि क़स्बा बांसा शरीफ में प्रत्येक इस्लामी माह की प्रथम ब्रहस्पतिवार को लगने वाले नौचंदी मेले में जनपद के अलावा गोण्डा, बहराईच,श्रावस्ती,बलरामपुर, सीतापुर, लखीमपुर, कानपुर,उन्नाव,हरदोई सहित प्रदेश के कोने कोने से जायरीन बाबा की मजार पर श्रद्धा से आते है ।हिन्दू मुस्लिम एकता की प्रतीक मजार शरीफ पर समाज के सभी वर्गों के लोग अक़ीदत से माथा टेक कर मन्नते मांगते है।जिसमे भूत प्रेत बाधा से त्रस्त, निसंतान दम्पति,अर्ध्वपक्षित लोगों की संख्या सर्वाधिक होती है। आज नौचंदी मेले में जायरीनों की भारी भीड़ रही।

शुलभ शौचालय न होने से खुले में शौच करने को मजबूर हैं जायरीन 
देवा महादेवा के बाद जनपद के महत्वपूर्ण मेलो में शुमार क़स्बा बांसा शरीफ के मेले का विशेष महत्व है मजार शरीफ पर नौचंदी मेला सहित सालाना मेले में भारी संख्या दूरदराज से जायरीन आते है जो कई कई दिन मेले में रहते है।मेला परिसर में सार्वजनिक शौचालय न होने के कारण मेले में आनेवाली महिला जायरीनों को बागों एव खेतो में शौच के लिए जाना पड़ता है।

रिपोर्ट/संवाददाता मोनू यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here