देशभर में मनाई गई दीपावली लोगों ने श्री गणेश लक्ष्मी कुबेर की पूजा पाठ कर लिया आशीर्वाद

0
223

हिन्दू समाज के लोगो द्वारा आज गुरूवार को दीपोत्सव पर्व प्रथम पूज्य श्री गणेश व धन की देवी लक्ष्मी माता श्री कुवेर की सुभ मुहूर्त में पूजा अर्चना कर रात्रि में दीपक,मोमबत्ती, झालर लगाकर सजावट की जिससे दीपक के प्रकाश सभी का घर जगमगा उठा।लोकवीर श्री राम चन्द्र जी ने लंकापति अहंकारी रावण का वध कर असत्य पर सत्य की विजय हुई।जिससे भगवान राम चौदह वर्ष वनवास के समय राक्षसो का वध करके श्री राम भगवान अपनी पत्नी सीता,भाई लक्ष्मण व अपने परम भक्त हनुमान के साथ जब अयोध्या वापस लौटे थे।इस खुसी में भगवान के भक्तों ने पूरी अयोध्या में उनकी प्रजा ने भगवान राम के आने की खुसी में घी के दीपक जलाया तब से आज तक दीपावली पर्व युगों युगों से मनाया जा रहा है।उसी अमावस्या की रात के समय में काफी अंधेरा होता है इस वजह से पूरे अयोध्या को दीपो और फूलों से श्री रामचंद्र के लिए सजाया गया था उसी दिन से लेकर आज तक इस दिन को दीपों के त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। और अंधेरे पर प्रकाश की जीत हुई।आपको बता दें भारत और दुनिया भर में रहने वाले हिंदुओं के सबसे पवित्र त्यौहार में से एक है हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी दीपावली पर्व गुरुवार को धूमधाम से मनाया गया भगवान गणेश महालक्ष्मी की विधि विधान से पूजा अर्चना की गई शाम को जमकर आतिशबाजी हुई नगर व ग्रामीण के मंदिरों घरों में गणेश भगवान तथा मां लक्ष्मी की पूजन अर्चन के साथ घरों में आकर्षक रंगोली भी सजाई गई दीपावली पर्व के दिन सुबह से लेकर शाम तक पुरानी तहसील स्थित आतिशबाजी मार्केट गुलजार रही लोगों ने जमकर खरीदारी की सैकड़ों ने दीया दीपक जलाकर घर के सभी हिस्सों को दीपक से जगमग कर दिया इस परंपरा को वर्षों से मनाया जा रहा है इस अवसर पर बाजारों में देर रात तक रौनक रही तथा भवन मंदिर सरकारी भवन भी रंग बिरंगी झालरों से नहाए हुए थे। दीपक और झालरों से सजे घर रोशनी से नहाया शहर ऐसा नजारा जमीन से लेकर आसमान तक रंग बिरंगी आतिशबाजी के चमक मानव लोग अंधेरे के दुश्मन बन गए आपको बता दें दिन गुरुवार को शाम दिवाली के मौके पर चारो ओर यही दृश्य दिखाई दे रहा था गली मोहल्लों में चटाई तड़पन मेहताब अनार की रोशनी और आसमानी आतिशबाजी होती रही माता पिता और परिजनों के साथ सबसे अधिक बच्चों के आकर्षण का केंद्र था शहर के अलावा गांव में दिवाली के धूम गांव से बाहर महानगरो सहित गैर प्रांतों में कर रहे नौकरी और मजदूरी करने वाले लोग भी त्यौहार पर अपने घर पहुंचे जनपद के त्यौहार परंपरागत तरीके से मनाया गया शाम को घर घर गणेश लक्ष्मी की पूजा हुई लोग देर रात तक दिवाली का आनंद उठाते रहे।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here