योगी सरकार के नियमों की हो रही अवहेलना शिक्षक समय से नहीं पहुंच रहे विद्यालय

0
317

             रामनगर/बाराबंकी       

                   ,,

उत्तरप्रदेश के बाराबंकी जिले की रामनगर तहसील के अंतर्गत शिक्षक विद्यालय में समय से नही पहुच रहे।सरकार के तमाम प्रयासों के बाद भी अध्यापक विद्यालय समय से नहीं पहुंचते पूरा मामला रामनगर तहसील के अंतर्गत ग्राम पंचायत गर्री के प्राथमिक विद्यालय का है आज सुबह दिन मंगलवार को 9:35 पर विद्यालय में एक भी अध्यापक उपस्थित नहीं थे।विद्यालय की बाउंड्री के अंदर फील्ड में बच्चे घूम रहे थे वहाँ के स्थानीय लोगो व बच्चो से पूछने पर पता चला कि इस विद्यालय में तैनात प्रधानाध्यापक पवन वर्मा आए दिन सही समय से नही आते है वह हमेशा देरी से आते हैं।इनका विद्यालय सुबह आने का कोई समय निश्चित नहीं है। यह मनमाने तरीके से विद्यालय में आवागमन जारी रखते हैं। विद्यालय में एक सहायक अध्यापिका भी नियुक्त है उसका भी यही हाल है। ग्राम सभा के गोलू सिंह कहते हैं कि यदि ग्राम का कोई जागरूक व्यक्ति इस संबंध में प्रधानाध्यापक से बात करता है तो उल्टे प्रधानाध्यापक ही उस व्यक्ति से रौब दिखाने लगते हैं।विभागीय अधिकारियों से सेटिंग का हवाला देकर के कहते हैं कि मेरा कोई कुछ नहीं कर पाएगा मैं अपने मन का मालिक हूं जैसा चाहूंगा वैसा करूंगा इस विद्यालय में तैनात प्रधानाध्यापक की कार्यशैली ठीक नहीं है।जिससे ग्राम सभा के ग्रामीणों में अध्यापकों के प्रति रोष व्याप्त है। ग्राम सभा के ही ग्राम पंचायत सदस्य उमेश यादव बताते हैं कि यह प्रधानाध्यापक मुझसे से भी झगड़ चुका है और काफी कहासुनी के बाद विद्यालय में मिड डे मील से संबंधित सामग्री हम ही लेकर के जाते हैं।उमेश यादव कहते हैं कि आज सुबह जब 9:15 बजे मिड डे मील का सामान लेकर के विद्यालय गया और 9:45 बजे तक वहां खड़े रहे अध्यापक नहीं आए 10:00 बजे जब अध्यापक आए तो उमेश यादव ने कहा कि मुझे दूसरे विद्यालय भी सामान ले जाना है तो इतने पर ही देर से आए प्रधानाध्यापक पवन वर्मा ने उमेश यादव को डांट फटकार लगा दी। तथा विद्यालय में दिखाई न देने की भी सख्त हिदायत दी।और विद्यालय में अंदर से ताला भी बंद कर दिया इस संबंध में जब हमारे प्रतिनिधि ने खंड शिक्षा अधिकारी रामनगर के मोबाइल नंबर 876595 8943 पर संपर्क करना चाहा तो इस नंबर पर खंड शिक्षा अधिकारी रामनगर से संपर्क नहीं हो पाया इस संबंध में जब संवाददाता ने गर्री के प्रधानाध्यापक पवन वर्मा से शाम को 5:36 पर संपर्क किया तो उन्होंने फोन को काट दिया देखना यह है कि विभाग इस अध्यापक पर कोई कार्रवाई करता है या लीपापोती करके ही ऐसे ही संरक्षण देता रहता है।

           रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here