बाराबंकी:सरयू नदी के किनारे घाघरा घाट पर, सैकडों माँ दुर्गा की दिव्य मूर्तियों का भक्तों ने किया विसर्जन।

0
632

रामनगर/बाराबंकी
हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी भक्तो ने नवरात्रि में मा दुर्गा जी का व्रत रखकर पुण्य अर्जित किया।अष्टमी नवमी को हवन पूजन करने के बाद सनातन धर्म हिन्दू धर्म मे मूर्ति विसर्जन करने की परम्परा सदियों से चली आ रही है जिसका उल्लेख शास्त्रों वेदों में वर्णित है।भारत देश के उत्तरप्रदेश राज्य में नवदुर्गा का पूजन अर्चन बड़े धूम धाम से किया जाता है,उत्तरप्रदेश के सभी जिलों में ग्रामीण माँ दुर्गा की मूर्ति स्थापित कर व्रत रखकर विधि विधान से नव दिन रात्रि जागरण कर माँ आदि शक्ति को प्रसन्न करने में कोई कसर नही छोड़ते है,जगह जगह कवि सम्मेलन ,रात्रि जागरण गायन आयोजित किया जाता है।नवरात्र में हर दिन का अलग ही महत्व होता है।
नव दिन पूरे होने के बाद सनातन धर्म हिदू धर्म मे बिना किसी भेद भाव के छोटी कन्याओं को आमंत्रित करके प्रत्येक घर में नव कन्याओं को भोजन कराने से माँ दुर्गा प्रसन्न होती है।और मनवांछित फल भक्तों को प्रदान करती है।कन्या भोजन करने के बाद हवन करके मूर्ति विसर्जन करने की परंपरा है।
आपको बता दे बाराबंकी जिले के सबसे बड़े घाट घाघरा घाट,सरयू नदी के तट पर रामनगर तहसील के अंतर्गत पूरे जिले से मूर्ति विसर्जन करने प्रत्येक गांव से ग्रामीण ट्राली से डीजे पर माँ दुर्गा के गाने पर नाचते झूमते हुवे रास्ते भर में सब का मन मोह लेते है।रास्ते मे मनमोहन मूर्ति इतनी सुंदर लगती है जैसे लगता है साक्षात दुर्गा माता कई रूपो में जा रही है।घाघरा घाट पर भक्तो के लिए तहसील प्रशासन ,पुलिस प्रशासन द्वारा कड़े इंतजाम किए जाते है जिससे कोई दुर्घटना घटित न हो।सरयू नदी के किनारे सफाई कराकर बैरीकेडिंग कराकर नदी के किनारे बोरी में मिट्टी भरकर जाने की उचित व्यवस्था की जाती है जिससे भक्तों को मूर्ति विसर्जन के समय दिक़्क़तों का सामान न करना पड़े।घाट पर चार नाव तैनात की गई और नाविक गोताखोर तैनात कर पुलिस के सहयोग से नाव पर मूर्ति को रखकर बीच धारा में गणेश लक्ष्मी मा दुर्गा की सैकड़ो मूर्ति सरयू नदी (घाघरा) में विसर्जित की गई है।
सरयू नदी के चारों और का नजारा मनमोहक था सामने नदी के बीच एल्गिन ब्रिज और संजय सेतु पुल स्थित है।यह एक अद्भुत नजारा था सरयू नदी के किनारे खाने पीने की कई दुकानें लगी थी जिससे ग्रामीणों ने उसका खूब लुफ्त उठाया।
सरयू नदी के घाट पर उपस्थित 32वी वाहिनी पी ए सी फ्लड बी लखनऊ बाढ़ राहत दल की आठ लोगो की टीम उपस्थित रही।जिसमे गजेंद्र प्रसाद यादव,एच् सी पी ,आरक्षी अनुपम कुमार, अनुराग मौर्य,योगेश चौधरी,मनीष सिंह,अनुराग मिश्र,ने नजर बनाए रखा।घाघरा घाट पर उपस्थित विधायक सरद अवस्थी,प्रवेश कुमार शुक्ल,उपजिलाधिकारी राजीव कुमार शुक्ल,पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद, सी ओ दिनेश कुमार दुबे,थाना प्रभारी नारद मुनि सिंह तहसीलदार सुरेंद्र कुमार,क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी सुनील यादव, ग्राम विकास अधिकारी निखिल कनौजिया,
नूर मोहम्मद, आमीन प्रदीप सिंह,तिलकधारी लेखपाल ,गिरीश सहित रामनगर थाने की पुलिस तैनात रही मूर्ति विसर्जन सकुशल सम्पन्न हुआ।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here