बढ़ती गैस की महंगाई पर गरीब चूल्हा फूंकने पर मजबूर

0
379

रामनगर/बाराबंकी

, ,

महगाई की मार से घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत लगभग 900 रुपये पहुचने से ग्रामीण इलाकों के घरों में चूल्हो का जलना फिर से शुरू हो गया है गरीबो का हाल इस कदर हो चला है कि गैस से उनका नाता टूटने लगा है प्रतेक घरो में फिर से चूल्हे जलने लगे हैं गैस के बढ़े दामो के चलते ग्रामीण माताएं बहने चुल्हा फूकने पर मजबूर है व जंगलों में जाकर स्वयं लकड़ी लाकर चूल्हे को जलाकर भोजन को पकाने के काम करती है इसके बारे में जब हमने उनसे वार्ता की तो उन्होंने बताया कि गैस सिलेंडर तो सरकार ने दे दिया लेकिन प्रतिदिन बढ़ते गैस के दामो से इतनी मंहगाई है कि हम गरीब लोग कैसे गैस सिलेंडर भरवा सकते है इस मंहगाई ने  हमे एक बार फिर चूल्हा फुकने पर मजबूर कर दिया है ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही उज्ज्वला योजना के तहत दिए गए गैस चुल्हा व सिलेंडर घरो में कबाड़ की भांति पड़े हुये हैं।

            रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here