ड्रेनों की सफाई मे हुए भ्रष्टाचार की पोल खोल रहा गांवों में भरा पानी

0
171

गाँव गाँव भरा बरसात का गंदा पानी संचारी रोगों को दे रहा दावत।   

                       

      रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/जयशंकर पान्डेय      

   सिरौलीगौसपुर बाराबंकी।बीते दिनों हुई भारी बारिश के कारण गांवों में हुए जल जमाव ने ग्रामीणों का जीना दुश्वार कर दिया है । बरसात के लगभग एक सप्ताह बाद अब गांवों में भरा गंदा पानी सड़कर दुर्गंध के साथ बीमारियां फैलाने का सबब बन रहा है । जिम्मेदार विभागों द्वारा कोई ध्यान ना दिए जाने से गांवों में संचारी रोगों के फैलने की संभावना बलवती हो गई है । धीरे धीरे गांवों में सर्दी जुखाम बुखार के मरीजों की संख्या भी बढ़ने लगी । वहीं स्वास्थ्य विभाग एक सचल वाहन के सहारे गांवों में छिटपुट दवाओं का वितरण कर अपनी जिम्मेदारी का पूरी करने का दावा ठोक रहा है । अब तक किसी भी गांव में एंटी लार्वा आदि दवाओं का छिड़काव नहीं कराया गया । क्षेत्र की ड्रेनों की सफाई के नाम पर किए गए भ्रष्टाचार की पोल भी खुल गई है। जल निकासी के लिए बनी क्षेत्र की ड्रेने जंगल झाड़ियों से पटी पड़ी हुई है ।जिनमें अतिरिक्त पानी निकालने की क्षमता नहीं दिखाई पड़ रही है । ड्रेनों के सफाई के नाम पर करोड़ों रुपए विभाग ने पानी की तरह बहा दिया किंतु किसी भी ड्रेन से पानी पूरी तरह से निकल नहीं पाया है। विकासखंड सिरौलीगौसपुर क्षेत्र के ग्राम मुश्कीपुर करोरा बरौलिया दुर्जनपुर डूडी गोढ़वा अमरा कटेहरा रसूलपुर हजरतपुर अलीनगर सोंधवा मुंशीपुरवा बाबा पुरवा सहित दर्जनों गांव जलजमाव के कारण टापू बने हुए हैं। इन गांवों में संचारी रोग अपने पैर पसारने लगे हैं। ग्राम मुश्कीपुर के निवासी शिव चरण वर्मा ने बताया कि उनके गांव में जल निकासी की कोई उचित व्यवस्था नहीं है । जिससे चारों तरफ बरसात का गंदा पानी भरा हुआ है । गांव में कई लोग जुखाम बुखार से परेशान है। बरसाती गंदा पानी सड़कर दुर्गंध फैला रहा है। दुर्जनपुर के मेराज व सुशील कुमार ने बताया कि उनके गांव में स्कूल परिसर के अलावा कई स्थानों पर जलजमाव बना हुआ है। रोगों के फैलने के डर से लोग परेशान हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक दिन सचल दस्ते की गाड़ी भेज कर दो चार लोगों को दवाओं का वितरण कराया है किंतु किसी प्रकार की दवाओं का छिड़काव गांव मे नहीं किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here