रामनगर:किसानों की दो सौ बीघा धान की फसल जलमग्न,किसानों ने की मुवावजा दिलाने की मांग।

0
229

चुरौलिया- निजामपुर में 200 बीघा धान की फसल पानी में डूबी
रामनगर/बाराबंकी। तहसील रामनगर क्षेत्र के राजस्व गाँव चुरौलिया व अशोकपुर में खारझा ना साफ होने व प्रशासन की लापरवाही से करीब 200 बीघा धान की फसलों में पानी भरा हुआ है जिस कारण से किसानों में काफी रोष व्याप्त है एक तो किसान प्रकृति की दंश झेल रहा है अगर इसी तरह से प्रशासन की लापरवाही होती रही तो किसानों का क्या होगा। लाखों रुपए की फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गई है।किसानों ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की है।और खारझा की सफाई करवा कर पानी निकलवाने की मांग की है।
चुरौलिया निवासी पीड़ित किसान चंद्र भूषण पांडे व आशुतोष कुमार शुक्ला ने बताया कि एक बीघा धान की फसल तैयार करने में 3-4 हजार रु0 का खर्च आता है।एक सप्ताह से ज्यादा धान की फसलो में पानी भरा होने के कारण फसल गलने लगी है।
पूर्व प्रधान निजामपुर व चुरौलिया निवासी कृष्ण मुरारी शुक्ला ने बताया कि मेरी 20 बीघा धान की फसल पानी में डूब गई है जिसमें लाखों का नुकसान हुआ है प्रशासन जल्द ही थालखुर्द गांव के आसपास खारझा में जो बांध लगा दिए गए हैं।उसको हटवा कर सफाई की जाए जिससे जल निकासी हो सके सफाई ना होने से जलभराव है तहसील प्रशासन इस समस्या से छुटकारा दिलाएं और किसानों की फसल की हुई हानि का सर्वे करके जल्दी ही मुवावजा दिलाने की मांग की है।
ब्यूरो रिपोर्ट /कृष्ण कुमार शुक्ल/बाराबंकी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here