रामनगर- “वायरल वीडियो” प्रकरण-सोमवार देर रात हुए वायरल वीडियो ने शोशल मीडिया पर मचाही तबाही-मामले ने पकड़ा तूल-ब्लॉक प्रमुख में झाड़ा अपना पल्ला

0
736

रिपोर्ट- राघवेन्द्र मिश्रा/के0के0 शुक्ला

वायरल वीडियो में सचिव को गाली गलौज कर रहे हैं अज्ञात ब्यक्ति-रोजगार सेवक से भी हाथापाई कर की गई अभद्रता-लगभग दो माह पूर्व भी रोजगार सेवक को मिली थी ब्लॉक न आने की धमकी

बाराबंकी-सोमबार देर रात एक शोशल मीडिया पर वायरल वीडियो ने तबाही मचा दी है जानकारी करने पर पता चला कि वायरल वीडियो रामनगर स्थित विकासखण्ड में बने सचिव आनंद सिंह के कार्यालय का है फिलहाल हमारा समाचार पत्र इस वीडियो की पुष्टि नही कर रहा है।वायरल वीडियो में दिखाया गया है कि सचिव आनन्द सिंह के कार्यालय पर जाकर कुछ अज्ञात ब्यक्तियों द्वारा गाली-गलौज कर वेज्जती करते हुए सचिव के आफिस में मौजूद त्रिलोकपुर निबासी ग्राम रोजगार सेवक सचिन शंकर वर्मा से हाथापाई कर अभद्रता की गई। वायरल वीडियो में ब्लॉक प्रमुख ने बुलाया है और नही आये…..ठीक नही होगा।कितने बड़े अधिकारी हो,ऐसे कटु शब्दोँ का भी इस्तेमाल किया गया है। शोशल मीडिया पर इस समय यह वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है ,वायरल वीडियो में कानून को खुलेआम चैनेन्ज किया जा रहा है।भयमुक्त सरकार का दावा ठोंकने वाले नेताओं में कितना सरकार का भय है यह वीडियो में देखा जा सकता है।

वायरल “वीडियो प्रकरण” में सचिव आनन्द सिंह ने भी साधी चुप्पी-विकासखण्ड अधिकारी को अपना मुखिया बता कर लिया किनारा

रामनगर-वीते सोमवार से वायरल हो रहे वीडियो ने शोशल मीडिया पर खूब किरकिरी की है दरअसल यह वीडियो सोमवार को देर रात फ़ेसबुक के माध्यम से वायरल हुआ था चर्चाओ के मुताबिक वीडियो में कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा ग्राम सचिव आनंद सिंह को गाली गलौज कर वेज्जत किया जा रहा है। बुधवार को जब इस मामले में सचिव आनंद सिंह से बात करना चाहा गया तो उन्होंने विकासखंड अधिकारी को अपना मुखिया बता कर पल्ला झाड़ लिया और दरकिनार हो गए।

 

वायरल वीडियो पर बोले ब्लॉक प्रमुख संजय तिवारी “कहा”-वीडियो से मेरा कोई लेना देना नही


रामनगर-सोमवार देर रात से वायरल हुई वीडियो ने शोशल मीडिया के प्लेटफार्म फेसबुक और व्हाट्सएप्प पर हाहाकार मचा दिया है।दरअसल जब वायरल वीडियो के पूरे मामले में ब्लॉक प्रमुख संजय तिवारी से बात की गई तो उनका कहना है कि हम भाजपा पार्टी से प्रमुख है भारतीय जनता पार्टी सरकार लगातार भ्रस्टाचार को खत्म करने का कार्य कर रही है तो वही कुछ अधिकारी गण सरकार की गतिविधियों के विरूद्ध कार्य कर विकासखंड में भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं।ऐसा ही मामला एक प्रकाश में आया है जहां पर ग्राम सचिव आनंद सिंह द्वारा प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना में धांधली कर पात्रों से पैसे लिए और मांगने का प्रकरण आया है जिसमे पैसे न देने पर आवास काट देने की धमकी दी गयी। इसकी शिकायत लेकर ग्रामीण मेरे पास आये थे,और यह सच भी है ।यह मामला जानकारी में आया तो मैने सचिव आनन्द सिंह को बुलबाया था लेकिन वह नही आये। जिसके बाद हम भी अपने ब्लॉक कार्यालय से चले गए थे ,उसके बाद क्या हुआ कैसे हुआ किसने किया मुझे यह नही पता है एक वीडियो वायरल हो रहा है यह जानकारी मंगलवार को मुझे मिली है।फिलहाल वायरल वीडियो से मेरा कोई देना नही है।

खण्ड विकास अधिकारी ने नही दिया कोई ठोस जबाव-कहा विकासखण्ड का हर कर्मचारी हमारा अंग है

रामनगर-सोमवार को रामनगर स्थित विकासखंड का एक वीडियो शोशल मीडिया पर बहुत तेजी से फैल रहा है वायरल हुए वीडियो के प्रकरण में जब रामनगर खंड विकास अधिकारी अमित त्रिपाठी से बात की गई तो उन्होंने भी कोई ठोस जबाव न देते हुए अपने कर्मचारी के साथ खड़े होने के बात कहते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here