बाराबंकी:सूरतगंज ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय अकोहरा में शिक्षक एक महीने से अनुपस्थित, शिक्षा व्यवस्था बेहाल।

0
943

 

रिपोर्ट:कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

रामनगर  सूरतगंज बाराबंकी।
रामनगर तहसील के अंतर्गत सूरतगंज ब्लॉक के ग्राम अकोहरा के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षा व्यवस्था बदहाल दिख रही है।वहाँ के विद्यालय में समय से कोई भी शिक्षक नही आता है।यह जानकारी ग्राम प्रधान की सक्रियता से पता चली है।
उत्तर प्रदेश सरकार योगी आदित्य नाथ की अगुवाई मे नौनिहालो को गुण वत्ता परक शिक्षा कराये जाने के लिये लगातार प्रयासरत है।लेकिन विकास खंड सूरतगंज के क्षेत्र मे तैनात खंड शिक्षाधिकारी उदय मणि पटेल की कृपा से राजधानी मे निवास करने वाले इस क्षेत्र मे तैनात शिक्षको की बल्ले बल्ले है।यह हाल क्षेत्र मे तब दिखाई और सुनाई पड रहा है जब कोरोना काल के दौर मे यह विद्मालय अधिकतर बंद रहने का दंश झेल रहे थे।ताजा प्रकरण ग्राम पंचायत अकोहरा मे स्थित प्राथमिक विद्मालय का है।अभी तक वैश्विक महामारी के दौर मे छुट्टी ही छुट्टी थी मगर सरकार की ओर से विद्मालयो को खुलने का आदेश जारी होते ही बताया जाता है कि यहा पर तैनात प्रधानाध्यापिका एकता श्रीवास्तव एक माह की छुट्टी पर चली गयी।गुरुवार को बच्चो के शोरगुल और ग्रामीणो की शिकायत पर मौके पर पहुचे ग्राम प्रधान ने जब बेशिक शिक्षा अधिकारी और खंड शिक्षा अधिकारी से शिकायत की जिसके एक घंटे के बाद सहायक अध्यापक रोहित वर्मा विद्मालय पहुँच जाते है।यह तो इस खंड शिक्षा क्षेत्र की मात्र बानगी भर है।विभागीय सूत्रो के मुताविक करीब दो दर्जन से अधिक शिक्षक शिक्षिकाओ को विद्मालय आने जाने और छुट्टी उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था के तहत व्यवस्था चल रही है।

ग्राम प्रधान चंदन सिंह कि दिखी सक्रियता खुद पहुंचे प्राथमिक विद्यालय बच्चों को कराई पीटी-

प्राथमिक विद्मालय अकोहरा मे तैनात शिक्षा मित्र आशा सिह की अनुपस्थिती के बारे मे ग्राम प्रधान चन्दन सिह का कहना था कि यह भी बराबर स्कूल नही आ रही है।शिक्षा मित्र अजीमुल्ला के सहारे ही शायद बच्चे विद्मालय आ जाते है।इस तरह की शिकायत का कोई यह मामला नया नही है।क्षेत्र मे उठ रही इस तरह की आवाजो के बाबत जब जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दूरभाष से अवगत कराना चाहा तब फोन रिशीब नही हो सका।खंड शिक्षा अधिकारी उदय मणि पटेल का फोन सेवा में नही है यही बताता रहा।
आपको अवगत करा रहे हैं या पूरा मामला बाराबंकी की तहसील रामनगर के सूरतगंज ब्लाक के एक गांव का है जहां ग्राम प्रधान की सक्रियता नजर आई है उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो डाले की मेरे ग्राम सभा मे शिक्षक समय से नही आते है।
ग्राम प्रधान ने यह सूचना पत्रकारों को दी तो इसकी गहनता से जांच पड़ताल की गई। ग्राम प्रधान चंदन सिंह का कहना है कि मेरे गांव में बच्चे तो समय से पहुंच जाते हैं लेकिन शिक्षक नदारद रहते हैं। उन्होंने कहा कि मैं प्राथमिक विद्यालय अकोहरा पहुंच कर बच्चों को पीटी कराई व बच्चों से पूछा क्या प्रार्थना स्कूल में होती है तो बच्चों ने कहा स्कूल में प्रार्थना नहीं कराई जाती है। अब देखना यह होगा कि शिक्षा मंत्री इस पर क्या एक्शन लेते हैं क्योंकि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।सरकार तो उनको प्रतिमाह वेतन दे रही है लेकिन शिक्षक स्कूल में समय से ना पहुंच कर
अपनी बहुत बड़ी लापरवाही उजागर कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here