बाराबंकी:मुंशी रघुनंदन प्रसाद सरदार पटेल ‘महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय’ में मनाया गया हिंदी दिवस।

0
226

 

रिपोर्ट/मंडल हेड कृष्ण कुमार शुक्ल।

बाराबंकी। मुंशी रघुनंदन प्रसाद सरदार पटेल महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हिंदी दिवस के अवसर पर समारोह का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर समारोह कार्यक्रम में सहभाग करने वाली छात्राओं को उपहार देकर पुरस्कृत किया गया।
समारोह को संबोधित करते प्रबन्धसमिति सचिव उमाशंकर वर्मा ने कहा-यदि जड़ को भुलाया जाता है तो शाखाएं कमजोर हो जाती हैं । इसी प्रकार यदि मातृभाषा की अवहेलना की जाती है तो राष्ट्र एवं संस्कृति क्षीण हो जाती है ।
महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ० ऊषा चौधरी ने बताया- मातृभूमि , मातृभाषा और मातृसंस्कृति यह किसी भी राष्ट्र की पहचान होते हैं । जब तक इन तीनों के प्रति राष्ट्र के लोगों में सम्मान नहीं होगा तब तक वह राष्ट्र उन्नति नहीं कर सकता है।
हिन्दी विभाग की प्रवक्ता डॉ 0 सरिता सिंह छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा- किसी भी राष्ट्र के विकास में उसकी अपनी भाषा का महत्वपूर्ण योगदान होता है। अपनी संस्कृति की पहचान को जीवंत रखने के लिए राष्ट्रभाषा का सम्मान करना एवम् उसका उचित ज्ञान होना आवश्यक है। हिन्दी राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता को बनाए रखने का मजबूत माध्यम है ।
इस अवसर पर विद्यालय परिवार एवं छात्राएं मौजूद रहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here