बाराबंकी:विद्युत उपकेंद्र सिरौलीगौसपुर के ग्रामीण लो वोल्टेज व अधाधुंध बिजली कटौती से परेशान

0
267

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/बाराबंकी।

उत्तरप्रदेश के जिले बाराबंकी की तहसील के विद्युत उपकेंद्र सिरौलीगौसपुर में सरकार द्वारा 18 घंटे की बिजली देने का आदेश है।लेकिन क्षेत्र में विद्युत विभाग की लापरवाही से लो वोल्टेज व अंधाधुंध बिजली कटौती से दर्जनों गांव गर्मी से परेशान है।सिरौलीगौसपुर के बाढ़ के तराई के लोग ज्यादा परेशान है। आपको बता दें लो वोल्टेज की समस्या पूरे बाराबंकी में है। ज्यादातर रात्रि के समय में कटौती होती है।वही आपको बता दें रामनगर क्षेत्र के विद्युत उप केंद्र रामनगर बुढ़वल में भी बड़ा बुरा हाल है बार-बार विद्युत सप्लाई काटने से ग्रामीण परेशान हैं। एक तरफ तो कोरोना जैसी महामारी चल रही है।ऐसे में अगर इस लो वोल्टेज से पंखा कूलर मोटर बल्ब खराब हो जाएंगे तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। आम जनता एक तो ऐसे परेशान हैं।अगर बार-बार बिजली कटौती होगी लो वोल्टेज दिया जाएगा तो विद्युत उपकरण खराब हो जाएंगे। सरकार को अधिकारियों को कड़ी फटकार लगानी चाहिए।जिससे विद्युत व्यवस्था सही रख सकें।आपको बता दें महादेवा जैसे तीर्थ स्थल में योगी आदित्यनाथ ने 2015- 2016 का चुनाव चल रहा था तो रामनगर महादेवा की धरती पर आए थे।और उन्होंने भाषण दिया था कि अगर देवा में 24 घंटे लाइट आती है तो महादेवा में क्यों नहीं आती है।जैसे ही योगी जी जीते उन्होंने अपना वादा पूरा किया और महादेवा जैसे तीर्थ स्थल को 24 घंटा लाइट देने का प्रस्ताव जारी कर दिया। लेकिन विद्युत विभाग की लापरवाही से आए दिन कभी लो वोल्टेज है कभी बाराबंकी से दिक्कत है।कहीं बाहर की दिक्कत है। यह लबहाना बताते रहते हैं वहां के अधिकारी व कर्मचारी।बीते 2 माह से विद्युत उपकेंद्र सिरौलीगौसपुर से संबंधित गांवों में बिजली की भीषण कटौती हो रही है। गर्मी और बरसात के मौसम में आम जनता बिजली की समस्या से परेशान हैं। सिरौलीगौसपुर उपकेंद्र के अकरस फीडर से लगभग 200 गांव को बिजली की आपूर्ति की जाती है।लो बोल्टेज रामसहाय,भरथीपुर, काशीपुर,कजियापुर, बदोसराय ,मरकमाउ, लाहड़रा, दुर्गापुर,मढ़ना, बहलोलपुर,तपेसिपह,हरिनारायणपुर में बिजली कटौती व लो बोल्टेज से गांव की जनता त्राहिमाम कर रही है।आपको बता दे 11000 लाइन का पोल टूटा पड़ा है। जनता की शिकायत के बाद खम्बा दिया गया। लेकिन अभी भी गाड़ा नही गया है।विद्युत विभाग की घोर लापरवाही उजागर हो रही है।सरकारी दावे के बाद भी बिजली की समस्या हल नहीं हो रही है। बिजली कटौती होने से आम जनमानस व किसान परेशान है।रामनगर विधानसभा के कुछ गांव ऐसे हैं जहां सिरौलीगौसपुर विद्युत उपकेंद्र से बिजली आती है वहां के ग्रामीण राहुल सिंह ,शैलेंद्र सिंह पटेल ,दिवाकर पांडे ,राजेश अवस्थी ,गिरजा शंकर अवस्थी, व हर्षित मिश्र ,विनीत पटेल ने कहा की बिजली व्यवस्था पूरी तरह से पटरी से उतर गई है। सरकार के दावे सिर्फ कागजों पर हैं। क्षेत्र की जनता की समस्या के लिए किसान नौजवान छात्रों की समस्या है। ग्रामीणों ने कहा एक तो बाढ़ से परेशान हैं दूसरी तरफ बिजली बार-बार कट कर दी जाती है। अब बताएं यह कि सरकार द्वारा मिट्टी का तेल भी नहीं दिया जाता है। अगर कीड़े मकोड़े सांप बिच्छू काट लें तो क्या होगा रात्रि के समय में 9व 10 बजे के बीच में सिरौलीगौसपुर पावर हाउस से बिजली काटी जाती है ।अगर बिजली नहीं दी गई तो हम लोग तो जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर के धरना प्रदर्शन करेंगे।बिजली व्यवस्था पटरी पर नहीं लौटी तो पहले धरना प्रदर्शन किया जाएगा अगर बिजली प्रशासन फिर भी नहीं जागा तो भूख हड़ताल की जाएगी।
मड़ना ग्राम सभा के पूर्व जिला पंचायत चंद्रदेव सिंह के बेटे अरुण प्रताप सिंह (राहुल) ने कहा की बिजली विभाग की लापरवाही से गांव में लोग परेशान हैं आम जनमानस गर्मी से त्राहि-त्राहि कर रहा है लेकिन सिरौलीगौसपुर प्रशासन मस्त है तराई के क्षेत्रों में तार बिल्कुल बेकार हो गए उनको बदलने की आवश्यकता है पेड़ की टहनी को काट के तार सीधे करने की आवश्यकता है लेकिन बिजली विभाग ध्यान नहीं दे रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here