उत्तरप्रदेश:बसपा सुप्रीमो मायावती ने दिया जवाब, मेरा उत्तराधिकारी “दलित” ही होगा?

0
298

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/बाराबंकी।

पूर्व मुख्यमंत्री बसपा सुप्रीमो मायावती का उत्‍तराधिकारी कौन होगा इसका जवाब बसपा सुप्रीमो ने खुद दिया,कहा मेरा उत्तराधिकारी दलित ही होगा। पार्टी सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने अपने उत्ताराधिकारी को लेकर बड़ा बयान दिया है.मायावती ने कहा कि यूपी में चुनाव लड़ाने के लिए कांग्रेस को प्रत्याशी तक नहीं मिलते हैं. बसपा कांग्रेस की तरह पैसे देकर चुनाव नहीं लड़ाती बल्कि जो खुद लड़ सके और जनाधार बढ़ा सके ऐसे उम्मदवारों को टिकट देती है।मायावती ने कहा कि यूपी में चुनाव लड़ाने के लिए कांग्रेस को प्रत्याशी तक नहीं मिलते हैं. बसपा कांग्रेस की तरह पैसे देकर चुनाव नहीं लड़ाती बल्कि जो खुद लड़ सके और जनाधार बढ़ा सके ऐसे उम्मदवारों को टिकट देती है।लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने अपने उत्ताराधिकारी को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि मेरा स्वस्थ्य अभी ठीक है. मुझे अभी किसी को अपना उत्ताराधिकारी बनाने की ज़रुरत नहीं.।जब स्वास्थ्य सही नहीं रहेगा तब ज़रूर बनाउंगी। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरा उत्तराधिकारी केवल दलित ही होगा।वहीं, इस दौरान मायावती ने कांग्रेस पार्टी पर भी जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पेट में दर्द इसलिए हो रहा है, क्योंकि वह चुनावी जनसभाओं में भीड़ जुटाने के लिए दिहाड़ी पर लोग लाती है. वहीं, दिहाड़ी मजदूर बहुत खुश होते हैं, क्योंकि बिना काम किए ही कांग्रेस की रैली में जाने पर ज्यादा पैसे मिलेंगे और खाना भी मिलेगा. इसी से कांग्रेस का हाल समझ में आता है।मायावती ने कहा कि यूपी में चुनाव लड़ाने के लिए कांग्रेस को प्रत्याशी तक नहीं मिलते हैं. बसपा कांग्रेस की तरह पैसे देकर चुनाव नहीं लड़ाती बल्कि जो खुद लड़ सके और जनाधार बढ़ा सके ऐसे उम्मदवारों को टिकट देती है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस को पहले अपना घर ठीक करना चाहिए.

बसपा के प्रति दुष्प्रचार करके इन्हें कुछ नहीं मिलना

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि मेरे जन्मदिन पर पार्टी के लोग मुझे कपड़े और गहने देते थे. इसके बाद हमने फैसला लिया कि आप मुझे जितने के गहने या कपड़े देना चाहते हैं उससे सदस्य बनाये. अब लोग पार्टी को आर्थिक सहयोग देते हैं. मायावती ने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आने के लिए तड़प रही है, लेकिन कथनी करनी में ज़मीन आसमान का फर्क होने से लोगों ने इसे छोड़ दिया है. ऐसे में कांग्रेस अपने हाल के लिए खुद ज़िम्मेदार है. बता दें कि उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनावे होने वाले हैं. यही वजह है कि अभी से ही राजनीति तेज हो गई है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here