बाराबंकी:सिरौलीगौसपुर -मनरेगा दलित मजदूर की पत्नी ने राजस्व टीम पर गंभीर आरोप लगाते हुए पुलिस विभाग के उच्चाधिकारियों सहित ,राज्य महिला आयोग से लगायी न्याय की गुहार

0
264

रिपोर्ट/जयशंकर पाण्डेय

सिरौलीगौसपुर बाराबंकी। राजस्व टीम एवं ग्रामीणों के बीच चकमार्ग पैमाइश के दौरान हुए विवाद का मामला गर्माता जा रहा है। चक मार्ग पर काम करने वाले मनरेगा दलित मजदूर की पत्नी ने राजस्व टीम पर गंभीर आरोप लगाते हुए पुलिस विभाग के उच्चाधिकारियों सहित महिला आयोग से न्याय की गुहार लगाई है। बताते चलें क्षेत्र के ग्राम बरदरी में प्रधान के दरवाजे से बाबू तेली के खेत तक करीब 800 मीटर लंबा और 4 मीटर चौड़ा चक मार्ग प्रधान द्वारा पटवाया जा रहा था।उक्त चक मार्ग पटाने से पूर्व प्रधान द्वारा हल्का लेखपाल से पैमाईश करवा कर निशानदेही कराई गई थी। पैमाइश के बाद चिन्हांकित चौड़ाई से अधिक पटाई कराएं जाने की शिकायत के बाद उपजिलाधिकारी सुरेंद्र पाल विश्वकर्मा के निर्देश पर मंगलवार को राजस्व निरीक्षक एवं हल्का लेखपाल की टीम मौके पर पहुंचकर चक मार्ग की पैमाइश कर अधिक चक मार्ग को तत्काल खोदने के लिए मजदूरों पर दबाव बनाने लगे। जिसके कारण चक मार्ग पर काम कर रहे मनरेगा मजदूरों में आक्रोश फैल गया और वह यह कहते हुए राजस्व टीम का विरोध करने लगे कि जब प्रधान जी मौके पर होंगे तभी पटा चकरोड खोदा जाएगा। दलित मनरेगा मजदूर विनोद कुमार की पत्नी का आरोप है कि राजस्व टीम के अधिकारियों ने इसी बीच उसके पति को गंदी गंदी गालियां देने लगे।बगल के खेत में काम कर रही सुषमा देवी अपने पति को गालियां देते देख मौके पर पहुंची और बीच-बचाव करने लगी। बस इसी बात पर भड़के राजस्व कर्मियों ने उसके साथ अश्लील गालियां देते हुए अभद्र व्यवहार किया। जिससे नाराज ग्रामीणों एवं राजस्व टीम के बीच विवाद हो गया।इसके बाद राजस्व टीम ने अपने साथ ग्रामीणों द्वारा मारपीट किए जाने का आरोप लगाते हुए बदोसराय पुलिस से ग्राम प्रधान सहित 11 नामजद एवं 55 अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करा दिया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस गांव में पहुंचकर आरोपियों की पहचान कर धरपकड़ करने में लगी हुई है।जबकि दूसरे पक्ष की शिकायत बदोसराय पुलिस ने सुनना मुनासिब नहीं समझा। पुलिस की इस कार्यशैली से परेशान पीड़ित दलित महिला सुषमा देवी ने गुरुवार को पुलिस महानिदेशक पुलिस अधीक्षक एवं राज्य महिला आयोग को रजिस्टर्ड पत्र भेजकर न्याय की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here