बाराबंकी:रामनगर तीन साल से अधिक समय से नालो की सफाई न होने के कारण आस पास के घरो मे भरा पानी-पूर्व चेयरमैन रामसरन पाठक

0
169

 

रिपोर्ट/अशोक कुमार सिंह/नारद संवाद/बाराबंकी।

रामनगर बाराबंकी

तीन साल के अधिक समय से नालो की सफाई न होने के कारण आस पास के घरो मे पानी भर

रहा है।नगर पंचायत के जिम्मेदार अधिकारी प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के अभियान को कोई मान्यता न देकर सरकारी धन का जमकर बंदर बाट कर रहे है।बडी संख्या मे नगर के निवासियो प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्य नाथ से न्याय की गुहार लगाई है।मालूम हो कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय आदर्श नगर पंचायत रामनगर के वार्डो मे जल निकासी न होने के कारण बरसात का गंदा पानी भर जाने से आवागमन के मार्ग पर पानी भर चुका है।यह समस्या विगत के तीन चार बर्षो से जस की तस बनी हुई है।आसपास के लोगों का रहना दुश्वार है।गंदे पानी के कारण मच्छरों का प्रकोप बढ चुका है जिसके कारण लोगों में बीमारियों के फैलने आशंका बलवती बन चुकी है।विषैले जीव जंतु भी इधर-उधर सूखा स्थान देखकर लोगों के घर में पहुंच रहे हैं।एक तरफ भारत सरकार स्वच्छता अभियान पर काफी पैसा खर्च कर रही है दूसरी तरफ नगर पंचायत रामनगर के वार्ड कादीराबाद एक बुढवल चौराहे के निकट आर्यावर्त ग्रामीण बैंक के पास बना नाला पट जाने के कारण नाले में गंदा पानी लगातार भरा रहता है।इसके अलावा मोहल्ला रानी एक मे जल निकासी न होने के कारण गंदा पानी रास्ते में भरा है जिसके चलते लोगों का रहना दुशवार है।कादिराबाद मोहल्ला निवासी योगेश मिश्रा एवं रानी मोहल्ला निवासी रमेश चंद्र तिवारी ने बताया कि कई बार इस समस्या से संबंधित प्रार्थना पत्र जिम्मेदार अधिकारियों को दिया गया लेकिन कोई भी उचित कार्रवाई अभी तक नहीं हुई।स्वच्छता अभियान की खुलेआम धज्जियां उड़ रही हैं।जिम्मेदार लोग मूक दर्शक बने हुये हैं।पूर्व चेयरमैन रामशरण पाठक का कहना था कि प्रत्येक वर्ष वर्षा की ऋतु से पहले शासन की मंशा के अनुरुप नालो की साफ सफाई करवाई जाती रही है।जिससे जल भराव न हो।लेकिन तीन बर्ष से नालो की सफाई का कार्य नही हुआ है हर वर्ष जल भराव की समस्या से आस पास के लोग प्रभावित होते रहे है।सोमवार को नगर के प्रभावित लोग हमारे पास आये थे।प्रधानमंत्री जी के स्वच्छ भारत मिशन होने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी विपरीत धारा मे गोता लगा रहे है।सभी लोग प्रदेश के मुखिया सहित उच्च अधिकारियो से शिकायत कर समस्या को हल कराये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here