कानपुर में भीषण सड़क हादसा, 17 लोगों की मौत, प्रधानमंत्री ने की आर्थिक मदद की घोषणा

0
283

 

रिपोर्ट/संपादक-कृष्ण कुमार शुक्ल/कानपुर

कानपुर में भीषण सड़क हादसा, 17 लोगों की मौत, प्रधानमंत्री ने की आर्थिक मदद की घोषणा.
कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर के थाना सचंडी के अंतर्गत मंगलवार को एक बड़ा सड़क हादसा हो गया है। यहां एक बस और सवारी भरा लोडर और टेंपो में जबरदस्त टक्कर हो गई। हादसे में 17 लोगों की मौत हुई है और घायलों को अस्पताल भेजा गया है। वहीं 5 लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं।
मिली जानकारी केअनुसार, कानपुर के सचेंडी में शताब्दी बस, सवारी भरा लोडर और टेंपो में जबरदस्त भिडंत हो गई। वाहनों में सवार कई लोग दब गए हैं। उन्हें बाहर निकाला जा रहा है। सूचना पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई है। लोगों की मदद से बचाव कार्य चल रहा है।
घायलों को आनन-फानन में लोडर से ही हैलट भेजा जा रहा है। अभी कई और लोग दबे हैं, जिन्हें निकालने की कोशिश चल रही है। आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि चार लोगों का इलाज हॉलेट अस्पताल में किया जा रहा है। बस लखनऊ से दिल्ली जा रही थी।
पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जताया दुख
पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने कानपुर हादसे पर दुख जताते हुए ट्वीट किया है। कानपुर में हुई सड़क दुर्घटना अत्यंत दुखद है। इस हादसे में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मैं उनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं, साथ ही घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

यात्रियों ने सांसद को सुनाई आपबीती
सांसद देवेंद्र सिंह भोले और विधायक अभिजीत सांगा भी घटनास्थल पर पहुंचे।बस के यात्रियों का कहना है कि बस चालक और कंडक्टर दोनों ने शराब पी रखी थी। चालक काफी तेज गति से बस चला रहा था। विरोध करने पर उसने यात्रियों को पीटने की धमकी भी दी।
सीएम और पीएम ने किया मुआवजे का ऐलान कानपुर में हुए दर्दनाक हादसे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा दुख जताया है। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है।वहीं हादसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सहायता राशि देने की घोषणा की है।

पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से मृतकों को तत्काल 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये सहायता राशि देने का आदेश दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here