कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले प्रवासी मजदूरों ने दिल्ली के लिए किया पलायन

0
311

कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले प्रवासी मजदूरों ने दिल्ली के लिए किया पलायन

वर्ष 2021 में लगे दिल्ली में लाकडाउन को लेकर गांव की ओर प्रवासी मजदूरों ने किया था पलायन

राघवेंद्र मिश्रा www.Naradsamvad.in
बाराबंकी कोरोना काल में अपनी जिंदगी गुजार रहे प्रवासी मजदूरों ने दिल्ली की ओर अब पलायन करना शुरू कर दिया है शनिवार को गोंडा बहराइच एवं नेपाल बॉर्डर से जाने वाली टूरिस्ट प्राइवेट बसों में प्रवासी मजदूरों का पलायन काफी देखने को मिला है इन स्लीपर डबल सीटर बसों में प्रोटोकॉल के नियमों की ताक पर रखते हुए प्रवासी मजदूरों का लाने व ले जाने का कार्य प्राइवेट बसों द्वारा किया जा रहा है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्ष 2021 में लगने वाले प्रथम लाकडाउन से पहले ही एक प्रेस वार्ता में बताया था कि हमारे लिए जीवन और जीविका दोनों ही जरूरी हैं इसको को ही जरूरी बताते हुए मजदूरों को ₹1000/माह सहयोग राशि की भी घोषणा की थी वही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस वार्ता में हाथ जोड़कर प्रवासी मजदूरों से पलायन ना करने की बात कही थी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गोंडा बहराइच बलरामपुर , श्रावस्ती एवं नेपाल बॉर्डर रुपैडिया से दिल्ली की ओर आने- जाने वाली प्राइवेट बसों का कोई भी परमिट नहीं है इस मामले में जब आरटीओ परिवहन बाराबंकी से बात करना चाहा तो उन्होंने बात करने से इंकार कर दिया प्रवासी मजदूरों से जब बात की गई तो उन्होंने बताया अभी तक जो कमाया था उसको हमने खा लिया है अब घर में घुट घुट के मरने से अच्छा है कि बाहर कहीं चार पैसे कमा कर अपना पेट भर सकेंगे और जीवन और जीविका दोनों को बचा सकेंगे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here