उत्तरप्रदेश:केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए प्रतिबद्ध : योगी आदित्यनाथ

0
211

 

रिपोर्ट/संपादक/कृष्ण कुमार शुक्ल

 

लखनऊ/उत्तरप्रदेश
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री व किसान नेता प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। वह शनिवार को लोक भवन पहुंचे और यहां उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने किसान हितों एवं उनके अधिकारों के लिए अपना सम्पूर्ण जीवन समर्पित किया। वे किसानों के परम हितैषी थे। भारत जैसे कृषि प्रधान देश में उन्होंने सिद्धांत दिया कि देश में सत्ता की राह खेतों व खलिहान से होकर जाता है।
योगी ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री रहते हुए प्रदेश के विकास में अभूतपूर्व योगदान दिया। किसानों व गांव के लिए उनके योगदान को स्मरण करते हुए केंद्र व उप्र सरकार ​खेती व किसानों पर ध्यान देते हुए किसानों के हितों के प्रति प्रतिबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी से लड़ते हुए भारत खेती के कार्यों को अनवरत जारी रखा है। खेती के लिए आवश्यक डीएपी खाद पर सब्सिडी का दाम 1200 रुपये प्रति बोरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषित किया है। केंद्र सरकार ने अपने सात साल में गांव, किसान, गरीबों के लिए जितने फैसले लिए, आजादी के बाद उतने फैसले किसी सरकार ने नहीं लिए।
योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य, बिना टैक्स के उपज कहीं भी बेचने का अधिकार, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि आदि योजनाएं सफलतार्पूक आगे बढ़ रही हैं। कहा कि देश के अंदर किसान सम्मान निधि का सबसे अधिक लाभ लेने वाला राज्य उप्र है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि चौधरी साहब की कर्मभूमि रमाला में चीनी मिल शुरू हो रही है। प्रदेश में गन्ना मूल्य का भुगतान करके किसानों के जीवन में खुशहाली लाने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश की 119 चीनी मीलें बंद थीं, कोरोना काल में उनमें से बहुत मीलों को चालू रखा।
योगी ने कहा कि कोरोना काल में गेहूं क्रय केंद्र खोले गए हैं। श्रमिकों को बचाते हुए उद्योग संचालित हो रहे हैं। 38 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं का क्रय किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बिजली के दाम नहीं बढ़ेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here