*बाराबंकी:रामनगर क्षेत्र के हतोइया गांव में सात दिवसीय श्री मद भागवत कथा का किया आयोजन*

0
154

रामनगर बाराबंकी
रामनगर क्षेत्र के हतोइया गांव में चल रही सात दिवसीय श्री मद भागवत कथा में वृन्दावन धाम से आये कथावाचक अनुराग कृष्ण मिश्रा द्वारा शिव तांडव की कथा सुनाई गई।
कहते हैं कि भगवान शिव दो स्थिति में तांडव नृत्य करते हैं। पहला जब वो क्रोधित होते हैं तब वे बिना डमरू के तांडव नृत्य करते हैं। ऐसा में जब शिवजी को क्रोध आता है तो वे तांडव नृत्य करते हैं और जब क्रोध वे ते अपना तीसरा नेत्र खोल देते हैं,तो जो भी सामने होता है वह भस्म हो जाता है। परंतु दूसरा जब वे डमरू बजाते हुए तांडव करते हैं तो इसका अर्थ यह है कि वे आनंदित हैं, प्रकृति में आनंद की बारिश हो रही है। ऐसे समय में शिव परम आनंद से पूर्ण रहते हैं। नटराज, भगवान शिव का ही रूप है, जब शिव तांडव करते हैं तो उनका यह रूप नटराज कहलता है।
11 मार्च को श्रीमद् भागवत कथा का हवन पूजन रुद्राभिषेक के बाद भव्य भंडारे का आयोजन किया गया है।इस मौके पर आनद शुक्ला, रामू, अशोक,सहित समस्त ग्रामीण मौजूद रहे।

रिपोर्ट/शोभित शुक्ल/सहसंपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here