300 रुपये चुराने वाला भगौड़ा तथाकथित दलाल बना पत्रकार,बहरूपिया बन करा रहा अवैध कार्य

0
276

राघवेन्द्र मिश्रा(स्वतंत्र पत्रकार एवम लेखक)


बाराबंकी में अधिकारियों के सीयूजी नंबर पर कॉल करके कर रहा है परेशान,खनन और अवैध नशे के कारोबार में हैं हांथ

नारद संवाद समाचार बाराबंकी।। प्रदेश सरकार जहां आए दिन लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को बचाने में लगी है तो वहीं तथाकथित भगौड़ा दलाल 300 से ₹500 चुरा कर अपना जीवन यापन कर पत्रकारिता की हनक में जनता के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं जिले की तहसील हैदर गढ़ में तथाकथित मानसिक विक्षिप्त पत्रकार अपने आप को एक बड़ा दलाल बहरूपिया और भगौड़ा समझ कर राजनीतिक दलों का सहारा लेकर अपना जीवन यापन करने में लगा हुआ हैं।। इन तथाकथित दलालों के कृत्यों को देखकर आप कतई महसूस नहीं कर सकते कि यह किसी संस्थान से जुड़े एक सम्मानित पत्रकार हैं इनका काम है सुबह से शाम तक दलाली ही करना जो कि लोकतंत्र के लिए आए दिन खतरा का निशान बन रहा है दुनिया के चौथे स्तंभ को कलंकित कर अपने आप को पत्रकार कहे जाने वाले तथाकथित भगौड़ा दलाल आजकल लोगों से हजार-हजार रुपए की दलाली कर रहा है जब पैसा नही मिला तो नए नए नंबर से फोंन करके धमकी देने का कार्य करने लगता है उक्त दलाल के बारे में जब जाना, समझा और देखा तो हकीकत के साथ महसूस हुआ तथाकथित भगौड़ा दलाल लगातार अपनी नाकामियों की करतूतों से समाज में एक बेज्जती का चेहरा बनता नजर आ रहा है जिले के मंत्री को करीबी बताकर हर अधिकारियों पर अपना प्रेशर बनाता है ऐसे दलाल की बजह से मंत्री की भी खूब किरकिरी हो रही है लोगों का कहना है कि कैसे कैसे लोग पाल रखे हैं???लेकिन रामराज्य कही जाने वाली सरकार में योगी बाबा का हंटर इतना चुभता है कि मंत्री भी उसकी शिफारस नहीं करते हैं कभी इस संस्थान में तो कभी उस संस्थान में कभी इसके साथ तो कभी उसके साथ शिवा दलाली के कोई और काम नहीं अपने आप को बड़ा और वरिष्ठ समझने वाले तथाकथित मानसिक विक्षिप्त भगौड़ा दलाल आजकल हैदर गढ़ में अपना जाल बिछाए हुए हैं इसकी शिकायत आरटीआई के माध्यम से जिला प्रशासन पुलिस अधीक्षक और जन सूचना विभाग में की गई है ताकि दुनिया के चौथे स्तंभ को कलंकित करने वाले दलालों से पत्रकारिता का दामन बचाया जा सके अब देखना यह होगा कितनी जल्दी कार्यवाही होगी और कितनी जल्दी यह बहरूपिया दलाल पत्रकारिता का दामन छोड़कर अपने दलाली का असली चेहरा पहन लेंगे मेडिकल स्टोर ,नशे के अवैध कारोबार क्लीनिक झोलाछाप डॉक्टरों से दलाली विज्ञापन के नाम पर वसूली शासन से प्रशासन तक झूँठ बताकर अपने आप का बड़ा नाम देना तथाकथित ऐसे पत्रकारों पर कार्यवाही होना निश्चित ही नहीं अनिवार्य है जिला सूचना अधिकारी बिना कार्ड जारी किए गए पत्रकारों पर तुरंत कार्यवाही कर इन मामलों को संज्ञान में लेते हुए तुच्छ मानसिकता वाले दलाल पत्रकारों पर कार्यवाही कर लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को बचाने का कार्य करें।जल्द ही ऐसे बहरूपियों का पर्दा फास होगा। फोटो कल्पिनिक दिखाई गई है। हा एक और संदेश अगर सुधरें नही तो अगली बार फोटो और लगा कि समाचार प्रकाशित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here