सरयू नदी से हो रही तबाही को रोकने के लिए सरकार ने करोड़ों रुपए ड्रेजिंग कार्य में खर्च किए लेकिन नही मुड़ी सरयू नदी की धारा

0
228

 

 

 

 

 

कोरिनपुरवा में सरयू नदी ने जहां पर कटान की उसी जगह से बालू भर के बोरियां लगाई जा रही, सरकार बेखबर

 

रिपोर्ट:एडिटर कृष्ण कुमार शुक्ल रामनगर बाराबंकी:तहसील रामनगर के कोरिन पुरवा मजरे तपेसिपाह में घाघरा नदी ने सोमवार को तेज कटान की थी,मंगलवार को नदी का जलस्तर घटा तो कटान नदी करने लगी तो बाढ़ खंड अधिकारियों और ठेकेदारों की मिलीभगत से बोरियों में बालू भरकर नदी के किनारे लगाई जा रही है, जहां पर नदी कटान कर रही है वहीं पर उसी जगह पर खोदकर बोरी में बालू भरकर लगाने का कार्य किया जा रहा है। ठेकेदारों की अच्छी खासी कमाई हो रही है।संवादाता ने जब इस संबंध में जानकारी लेने का प्रयास किया तो बाढ़ खंड कर्मचारी ठेकेदार तुरंत ही वहां से निकलने का प्रयास किए और कोई भी जानकारी देने से इनकार किया।ज्ञात हो कि सरकार ने करोड़ों रुपए की लागत से कोरिन पुरवा मजरे तपेसिपाह में सरयू नदी में ड्रेजिंग कार्य किया था, घाघरा नदी की धारा को मोड़ने के लिए लेकिन सरकार के करोड़ों रुपए बेकार साबित हुए हैं, इससे नदी की धारा नही मुड़ी कोई फायदा नजर नहीं आया,नदी कटान कर रही है।दैनिक माधव संदेश समाचार पत्र ने प्रमुखता से खबर भी प्रकाशित की थी कि थी ग्रामीणों ने कहा था जो कार्य हो रहा है सरकार ने करोड़ों रुपए खर्च किए लेकिन हमारे गांव का कोई फायदा नही होगा अगर इन्ही पैसों से मकान बनाकर ग्रामीणों को दे देती तो पैसा बेकार न जाता यह बात कोरिनपुरवा के सुनील कुमार ने कही थी की नदी का पानी बढ़ा तो घाघरा पिछले साल से ज्यादा कटान करेगी।अवगत करा दे इस ड्रेजिंग कार्य से सिर्फ अधिकारियों और खनन माफियाओं को फायदा पहुंचा है,ग्रामीणों को इससे कोई फायदा देखने को नहीं मिला।ड्रेजिंग कार्य से ग्रामीणों के बचाव के लिए जो कार्य हुवा उससे कोई निष्कर्ष नही निकला नदी और ज्यादा कटान कर रही है, क्योंकि जहां से बालू खोदकर उठाई गई थी, वहां पर गहराई और ज्यादा हो गई जिससे नदी ने और कटान की, आखिरकार हुआ वही नदी का जलस्तर जैसे ही बढ़ा कटान चालू हो गई। आपको अवगत करा दें नदी के किनारे जहां पर नदी कटान कर रही है उसी जगह पर बालू खोदकर बोरियों में भरकर लगाने का काम किया जा रहा भ्रष्ट ठेकेदारों द्वारा यह कार्य किया जा रहा है। क्योंकि जहां पर नदी कटान कर रही अगर वहीं से आप बालु खोदकर उठाकर भरेंगे तो सरयू नदी में बोरिया लगाने का कोई फायदा नहीं होगा नदी और ज्यादा कटान ही करेगी। इस संबंध में बाढ़ खंड अधिकारी बाराबंकी ने बताया हमको कोई जानकारी नहीं है हम दूसरी जगह से आ रहे हैं और वहां क्या कार्य हो रहा है हमारी जानकारी में नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here