रामनगर:ग्राम चंदनापुर मे विवाद को लेकर चली गोली दो घायल एक की हालत नाजुक

0
1022

 

रिपोर्ट:एडिटर कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल रामनगर/बाराबंकी।बोरिंग में पंपिंग सेट बांधकर सिंचाई करने को लेकर दो पक्षों के बीच पूर्व मे हुए वाद विवाद के चलते एक पक्ष के द्वारा लाइसेंसी बंदूक से फायर कर देने से दूसरे पक्ष के युवक को सीने सहित शरीर के कई स्थानों पर अनेक छर्रे लगे गए। वहीं गांव का दूसरा व्यक्ति बीच-बचाव कर रहा था वह भी गोलीबारी की चपेट में आ गया। दूसरे पक्ष के दरवाजे पर बंधी भैंस भी इन अता तायियों से नहीं बच सकी। दर्जनों छर्रे उसके शरीर को भेद दिए। घटना की जानकारी होते ही ए एस पी ,सी ओ, एच एस ओ रामनगर व मसौली भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर घायलों को उपचार के लिए भिजवाया । शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल गांव में तैनात किया गया।प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना रामनगर अंतर्गत ग्राम पंचायत चंदनापुर में बृहस्पतिवार को दिन में करीब 10 बजे 1 माह पूर्व नवल किशोर वर्मा की बोरिंग से आशीष यादव द्वारा पंपिंग सेट बांधकर सिंचाई को लेकर विवाद हुआ था। जिसे डायल 100 ने पहुंच कर सुलह समझौता करा दिया था ।उसी प्रकरण को लेकर आज गुरुवार की सुबह दोनों पक्षों में कहासुनी व मारपीट होने लगी। इसी बीच रामेंद्र वर्मा व मानवेंद्र वर्मा पुत्र गण नेवल किशोर वर्मा ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से दरवाजे पर खड़े आशीष यादव पुत्र स्वर्गीय शिव बरन यादव के ऊपर कई राउंड फायर झोंक दिया ।बीच-बचाव कर रहे गांव के ही राकेश वर्मा पुत्र राम सिंह वर्मा को भी छर्रे लग गए। वहीं आशीष के घर के बाहर बंधी बेजुबान भैंस को भी दर्जनों छर्रे लगे। गोलीबारी की घटना होते ही गांव में कोहराम मच गया। मामले की जानकारी पाते ही अपर पुलिस अधीक्षक पूर्णेन्दु सिंह, क्षेत्राधिकारी दिनेश कुमार दुबे, थाना प्रभारी रामनगर संतोष सिंह व मसौली पंकज सिंह दल बल के साथ मौके पर पहुंचकर घायलों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामनगर भिजवाया।जहां पर आशीष यादव की हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला चिकित्सालय भेज दिया । सूत्रों के हवाले से जिला चिकित्सालय में हालत नाजुक होता देख चिकित्सकों ने ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। घायल भैंस का उपचार पशुचिकित्साधिकारी द्वारा किया जा रहा है। गांव में शांति व्यवस्था व सुरक्षा बनाए रखने के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है। आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। समाचार लिखे जाने तक किसी भी पक्ष द्वारा थाने पर तहरीर नहीं दी गई है।

*क्षेत्राधिकारी दिनेश कुमार दुबे* ने बताया कि आशीष यादव पुत्र शिव बरन यादव गांव के ही नेवल किशोर वर्मा की बोरिंग से पंपिंग सेट बांधकर सिंचाई करने का विवाद 1 माह पूर्व हुआ था। वर्मा पक्ष ने यादव पक्ष को अपनी बोरिंग से पंप इंजन बांधने से मना कर दिया था,उस समय डायल हंड्रेड द्वारा दोनोंपक्षों में सुलह समझौता करा दिया गया कि बोरिंग से सिंचाई करने के लिए मना कर रहे हैं तो आप लोग अपना पंपिंग सेट नहीं बांधे।
आज बृहस्पतिवार को दोनों पक्षों में आपस में कहासुनी हुई जिससे वाद विवाद बढ़ा और मारपीट होने लगी। नवल किशोर के पिता छोटेलाल के नाम लाइसेंसी बंदूक है उसी बंदूक से रामेंद्र व मानेंद्र वर्मा पुत्र गण नवल किशोर वर्मा ने फायर झोंक दिया। जिसमें आशीष यादव के सीने में अनेक छर्रे लगे हैं। वही गांव के राकेश वर्मा जो बीच-बचाव कर रहे थे। उनको भी छर्रे लगे तथा जो भैंस बंधी थी उसको भी छर्रे लगे हैं। इस विवाद में आधा दर्जन लोग हिरासत में लिए गए हैं । कोई तहरीर नहीं दी गई है तहरीर मिलते ही मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा।और सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। लाइसेंसी बंदूक की खोजबीन की जा रही है।जिसका लाइसेंस भी निरस्त किए जाने की कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here