खेतों को जाने वाले चक मार्गों पर भी अवैध रूप से भू माफियाओं का कब्जा

0
199

 

 

 

गांवों की सरकारी जमीनों से नहीं हटा अतिक्रमण

रिपोर्ट एडिटर:कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल रामनगर बाराबंकी।उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत इन दिनों नगरों ,कस्बों, चौराहों पर अतिक्रमण बुल्डोजर से हटाया जा रहा है ,सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश भर में भू माफियाओं के चंगुल से जमीनों पर अवैध अतिक्रमण हटाने का निर्देश अधिकारियों को दिया है ,किंतु रामनगर तहसील के अधिकांश राजस्व ग्रामों में अब तक गांव की कई एकड बेशकीमती सरकारी सुरक्षित जमीने जैसे कि चारागाह ,तालाब, खलिहान, मृत पशुओं की खाल निकालने की जगह ,खेल का मैदान ,श्मशान स्थल ,कब्रिस्तान जैसी जमीने आज भी भू माफियाओं के कब्जे में है। इतना ही नहीं खेतों को जाने वाले चक मार्गों पर भी अवैध रूप से भू माफियाओं ने पक्का निर्माण कर अतिक्रमण कर रखा है, जो कि गांव में होने वाले अधिकांश झगड़ों का कारण भी है। कई राजस्व ग्रामों में तो सुरक्षित सरकारी जमीने गांव के राजस्व नक्शे में तो दर्ज हैं लेकिन मौके पर वह कहां है यह ग्राम वासियों को भी नहीं मालूम । इतना बड़ा खेल भू माफियाओं द्वारा किया जा रहा है और राजस्व विभाग के लेखपाल व कानूनगो आदि जिम्मेदार राजस्व कर्मियों द्वारा कभी कोई शासन को इस संबंध में सूचना भी नहीं दी गई। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद कान में तेल डाले पड़ा राजस्व विभाग हरकत में आया है, लेकिन गांव की सुरक्षित जमीनों पर अभी भी राजस्व विभाग भू माफियाओं पर मेहरबान है। देखना यह है गांव की सरकारी सुरक्षित जमीने भी भू माफियाओं के चंगुल से अतिक्रमण मुक्त होती है या ऐसे ही कागज पर ही अतिक्रमण हटाने की रिपोर्ट लगाकर राजस्व विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here