सीएमओ के आदेश को भी नहीं मानते सीएचसी अधीक्षक बिना पंजीकरण चल रहा निजी अस्पताल

0
77

हैदर गढ़/बाराबंकी

रिपोर्ट/आशीष मिश्रा

रामाध्या हेल्थ केयर अस्पताल पर कब होगी कार्यवाही

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने हेतु निरंतर आकस्मिक दौरा दिशा निर्देश दिए जाते रहे है इसके बावजूद भी स्वास्थ्य विभाग की छाती पर भ्रष्टाचार का प्रहार करते हुए सरकारी संरक्षण में सरेआम अवैध निजी अस्पतालों का संचालन किया जा रहा है हद तो तब हो जाती है जब स्वयं रक्षक ही भक्षक बन जाते हैं जिसका जीता जागता उदाहरण हैदर गढ़ में आपको देखने को मिलेगा हैदर गढ़ में अधीक्षक साहब द्वारा खुलेआम अपने संरक्षण में रामा ध्या हेल्थ केयर अस्पताल का संचालन करवाया जा रहा है जो इमानदार सीएमओ की साख पर बट्टा तो लगा ही रहा है स्वास्थ्य मंत्री के भ्रष्टाचार मुक्त अरमानों पर ही पानी फिरता नजर आता है भ्रष्टाचार के सैलाब में डूबे इन साहब द्वारा निजी अस्पतालों को खुलेआम संरक्षण दिया जाता है ज्ञान बांटने में मशहूर धमकी देने में मशहूर इन साहब द्वारा सत्ता पक्ष में बड़ी पहुंच होने की बात कह कर अक्सर जनमानस को भ्रमित किया जाता है यही कारण है कि स्वास्थ्य विभाग की टीमों की नजर इन साहब ओ द्वारा संचालित निजी अस्पतालों पर नहीं पड़ती और इनके संरक्षण अवैध निजी अस्पताल आम जनमानस को लूटने में लगे हैं हद तो तब हो जाती है जब सरकारी अस्पताल पहुंचे मरीज को इन साहब की कृपा दृष्टि से चुपचाप अवैध निजी अस्पतालों में रेफर कर दिया जाता है विडंबना है कि स्वास्थ्य विभाग आखिर क्यों सब कुछ जानते हुए भी इन साहब पर मेहरबान रहता है ऐसे में सवाल उठता है कि ऐसे मठाधीश साहब स्वास्थ्य मंत्री की नजर कब पड़ेगी यह भी आम जनमानस में चर्चा का विषय बना हुआ है निजी अस्पतालों की जांच के नाम पर इन कृपा पात्र साहब द्वारा अन्य अस्पतालों की जांच करा कर अपने संरक्षण में चल रहे निजी अस्पतालों को बचा लिया जाता है जिसका जीता जागता उदाहरण अभी कुछ दिन पहले ही देखने को मिला है जब इनके चहेते अस्पताल पर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची तभी एक फोन आता है और स्वास्थ्य विभाग की टीम कहती है कि आप अस्पताल है पहले बताना चाहिए ऐसे में सवाल उठता है कि योगी आदित्यनाथ की भ्रष्टाचार मुक्त सरकार में इन अधिकारियों के रहते कैसे भ्रष्टाचार मुक्त शासन संभव है हैदर गढ़ में चल रहे रामाध्या हेल्थ केयर अस्पताल के संबंध में सीएचसी अधीक्षक द्वारा बताया गया कि यह अस्पताल डॉक्टर जितेंद्र सिंह द्वारा चलाया जाता है जबकि उक्त अस्पताल स्वयं अधीक्षण साहब के संरक्षण में चलता है ऐसे में सवाल उठता है कि यह सब किसके इशारे पर और किसकी शह पर चल रहा है आम जनमानस यह भी जानना चाहता है कि जब सरकारी तंत्र ऐसे कार्य करेगा तो शासन पर लोगों का विश्वास कैसे रहेगा
इस संबंध में सीएमओ बाराबंकी डॉ राम जी वर्मा से वार्ता की गई तो उन्होंने बताया की दो अस्पतालों की जांच की गई है मैं स्वयं इस अस्पताल की जांच करवा कर कड़ी कार्रवाई करूंगा शासन की मंशा से किसी को भी खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here