रामनगर तहसील में अधिवक्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर किया धरना प्रदर्शन

0
247

उपजिलाधिकारी कार्यालय व तहसीलदार कार्यालय पर लगे है ताले

रिपोर्ट:-कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

रामनगर बाराबंकी:तहसील रामनगर में व्याप्त विभिन्न समस्याओं के बाबत तहसील बार एसोसिएशन रामनगर द्वारा निम्नलिखित बिंदुओं पर एक मांग पत्र द्वारा दिनांक 17. 1.2022 को तहसीलदार रामनगर सुरेंद्र कुमार को प्रेषित किया गया था।जिस पर तहसीलदार ने कोई कार्यवाही नही की जिसपर समस्त अधिवक्ताओं में तहसीलदार के प्रति रोष व्याप्त है। अधिवक्ताओं की मांग पत्र में समस्याओं को लेकर कुछ मांगे थी जिसमें अविवादित वादों में दाखिल खारिज की प्रक्रिया राजस्व संहिता के अनुसार निश्चित अवधि में पूर्ण की जाए, अविवादित वादों में पारित आदेश की आमद ,बैनामा,फीडिंग,दाखिल खारिज, व फीडिंग आदेश दिनांक से 15 दिन के अंदर सुनिश्चित की जाए, दुरुस्ती के वादों में वाद दायरा के दिनांक से 15 दिन के अंदर न्यायालय पर रिपोर्ट प्रस्तुत किया जाना सुनिश्चित किया जाए, सीमांकन की प्रक्रिया राजस्व संहिता में समय अवधि में संपन्न कराई जाए ,वरासत की प्रक्रिया ऑनलाइन होने के 15 दिनों के अंदर पूरी की जाए, खतौनी पर फीडिंग सुनिश्चित की जाए, लेखपालों की कार्य अवधि में उपलब्धता तहसील परिसर में एक निश्चित स्थान पर सुनिश्चित की जाए ,तहसील परिसर की सफाई तत्काल कराई जाए, ऐसी कई समस्याओं के लिए अधिवक्ताओं ने मांग पत्र दिया था लेकिन उनकी समस्याओं का निस्तारण नहीं किया गया है। जिसको लेकर के कई अधिवक्ताओं ने धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया गया है।तहसील में अधिवक्ताओं द्वारा विशाल धरना प्रदर्शन किया जा रहा है जिसमें तहसील बार एसोसिएशन के अध्यक्ष वेद प्रकाश श्रीवास्तव व महामंत्री शिव प्रकाश अवस्थी समेत कई अधिवक्ताओं द्वारा विशाल धरना प्रदर्शन किया जा रहा।अधिवक्ताओं की अपनी समस्याओं लेकर के तहसीलदार रामनगर सुरेंद्र कुमार को 17 जनवरी को एक मांग पत्र दिया गया था जिसमें अधिवक्ताओं की समस्या लिखी थी उसका निदान करना था लेकिन तहसीलदार ने उनकी इन समस्याओं का निदान नहीं किया।तहसीलदार ने अधिवक्ताओं से कहा 10 मार्च को समाधान हो जाएगा। लेकिन फिर भी नही किया गया।पुनः एक लेटर 1 सप्ताह पूर्व अधिवक्ताओं द्वारा पुनः पत्र दिया गया जिसमें तहसील प्रशासन द्वारा 5 अप्रैल तक आश्वासन दिया गया। अधिवक्ताओं ने 5 अप्रैल का इंतजार किया लेकिन मांगे फिर भी पूरी नही की गई।जिसको लेकर 6 अप्रैल को अधिवक्ताओं ने तहसील प्रांगण में धरना प्रदर्शन दिया।उपजिला अधिकारी के कार्यालय पर ताला लगा है व तहसीलदार के कार्यालय पर भी ताला लगा है।अधिवक्ताओं का कहना है जब तक मांगे नहीं पूरी होंगी तब तक धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here