बाराबंकी:मुख्तार अंसारी गैंग के चार सदस्यों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
335


एसपी अनुराग वत्स ने गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें गठित की हैं, जिसमें से दो टीम मऊ व एक टीम गाजीपुर रवाना

रिपोर्ट:-कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

उत्तरप्रदेश(बाराबंकी) पुलिस ने गैंगस्टर के मुकदमे में नामजद मुख्तार अंसारी गैंग के चार और सदस्यों को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया है।इस मुकदमे में नामजद 13 में से नौ आरोपित अब तक जेल पहुंचाए जा चुके हैं। पुलिस की पकड़ से दूर चार सदस्यों को टीम गाजीपुर और मऊ जिले में तलाश कर रही है। उनके मोबाइल फोन नंबरों को सर्विलांस पर लगाया गया है। बहुचर्चित एंबुलेंस प्रकरण में मुख्तार अंसारी सहित 13 लोगों पर पुलिस ने 25 मार्च 2022 को कोतवाली नगर में गैंगस्टर का मुकदमा लिखाया है। इसमें गाजीपुर के अफरोज खां उर्फ चुन्नू, जफर उर्फ चंदा, सुरेंद्र शर्मा, मो. शाहिद, फिरोज कुरैशी, सलीम, मऊ के श्याम संजीवनी अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर की संचालिका डा. अलका राय, डा. शेषनाथ राय, राजनाथ यादव, आनंद यादव, प्रयागराज का मो. सुहैब मुजाहिद और लखनऊ का मो. जाफरी उर्फ शाहिद गैंग के सदस्यों के रूप में नामजद किए गए हैं। इनमें मुख्तार, अफरोज खां व जफर पहले से जेल में हैं, जबकि मऊ रवाना हुई पुलिस ने डा. अलका राय व शेषनाथ राय को गिरफ्तार कर 29 मार्च को जेल भेज दिया है। एसपी अनुराग वत्स ने गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें गठित की हैं, जिसमें से दो टीम मऊ व गाजीपुर गई हैं। वहीं, बुधवार को पुलिस ने सुरेंद्र शर्मा, फिरोज कुरैशी, सलीम और राजनाथ यादव को पुलिस ने हाईवे पर स्थित ओवर ब्रिज के पास असेनी मोड़ के पास से गिरफ्तार किया है।सीओ सिटी आतीश कुमार सिंह ने मीडिया को बताया कि टीमें गाजीपुर व मऊ गई हुई हैं। प्रयास जारी है और जल्द ही शेष आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
एंबुलेंस प्रकरण-
पंजाब जेल में निरुद्ध के दौरान मुख्तार अंसारी न्यायालय जाने के लिए निजी एंबुलेंस यूपी 41 एटी 7171 प्रयोग करता था। 31 मार्च 2021 को मामला चर्चा में आने पर दो दिन बाद कोतवाली नगर पुलिस ने मऊ के श्याम संजीवनी अस्पताल की संचालिका डा. अलका राय पर जालसाजी का मुकदमा लिखा था। यह एंबुलेंस बाराबंकी के फर्जी पते पर पंजीकृत थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here