बाराबंकी:वीरेंद्र यादव हत्याकांड का खुलासा, दो लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

0
201

 

ब्यूरो रिपोर्ट:-कृष्ण कुमार शुक्ल/राजेश कुमार

देवा(बाराबंकी):पुलिस ने सरैंया मजरे सलारपुर के वीरेंद्र यादव हत्याकांड का राजफाश कर दिया है। प्रेमिका के बुलाने पर पहुंचे वीरेंद्र की उसके भाई ने ही गोली मारकर हत्या की थी। दो आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
देवा के ग्राम सरैयां मजरे सलारपुर के नारेंद्र कुमार यादव पुत्र रामचंदर ने कोतवाली में मुकदमा कराया था। इसमें बताया था कि उसका भाई वीरेंद्र यादव 23 मार्च की शाम करीब चार बजे मोटरसाइकिल से रीवारतनपुर जाने के लिए घर से गया था। रात करीब नौ बजे देवा के नुमाइश मैदान में वीरेंद्र को गोली मारे जाने की सूचना मिली। साक्ष्यों को एकत्रित कर हत्या में संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया था और फोरेंसिक टीम व डाग स्क्वाड ने मौके से साक्ष्य जुटाए थे।वारदात में संलिप्त वीरेंद्र के भाई नगर कोतवाली के आवास विकास कालोनी निवासी सुनील यादव पुत्र रामचंदर यादव व शांति विहार कालोनी की रेखा वर्मा पत्नी पवन कुमार को शुक्रवार को पुलिस ने गिरफ्तार किया। सुनील के कब्जे से घटना में प्रयुक्त एक अदद तमंचा बरामद किया। पुलिस की पूछताछ में सुनील यादव ने बताया कि कि वह किसान यूनियन का नेता हैं और वीरेंद्र यादव उसका सगा भाई है। बताया, वीरेंद्र ने छोटे भाई नारेंद्र की तीन बीघा भूमि का बैनामा करा लिया था। सुनील को उसके हिस्से की भूमि नहीं मिली। इसका मुकदमा न्यायालय बाराबंकी में विचाराधीन है। मुकदमे की पैरवी वीरेंद्र यादव ही कर रहे थे। वीरेंद्र को रास्ते से हटाने के लिए सुनील ने भाकियू नेत्री अपनी महिला मित्र रेखा वर्मा के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची। रेखा ने वीरेंद्र यादव को प्रेमजाल में फंसाकर उसे नुमाइश ग्राउंड देवा बुलाया। यहां पहले से मौजूद सुनील यादव ने वीरेंद्र की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here