यूपी बोर्ड की हाई स्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षाएं 24 मार्च को डीएम आदर्श सिंह ने परीक्षा कराने के दिए कड़े निर्देश

0
219


अनुश्रवण समिति की बैठक में डीएम आदर्श सिंह ने दिए सख्त निर्देश

ब्यूरो रिपोर्ट:-कृष्ण कुमार शुक्ल/राजेश कुमार

बाराबंकी: जिला अधिकारी डॉक्टर आदर्श सिंह ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को हाई स्कूल व इण्टरमीडिएट बोर्ड परीक्षा सकुशल और नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए सख्त निर्देश दिए है। आपको बता दें माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 24 मार्च से शुरू हो रही हैं। इसको लेकर प्रयागराज (इलाहाबाद) से प्रवेश पत्र कालेजों को प्राप्त हो गए हैं। इन्हें 23 मार्च तक छात्र-छात्राओं को वितरित किए जाने हैं। कई स्कूलों में फीस न जमा करने पर व अन्य कारणों से प्रवेश पत्र छात्रों को नहीं दिए जा रहे हैं।जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी प्रधानाचार्यों को आदेशित किया है कि 23 मार्च तक हर हालत में बोर्ड परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र प्रदान करा दिये जाए।बोर्ड परीक्षा के सफल संचालन को लेकर सोमवार को पीएल मेमोरियल डिग्री कालेज में डीएम की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई जिसमें केंद्र व्यवस्थापक, सेक्टर, जोनल मजिस्ट्रेट शामिल हुए। अनुश्रवण समिति की बैठक में डीएम आदर्श सिंह ने बताया कि नकल विहीन परीक्षा कराने की सारी व्यवस्थाएं पूर्ण की जा चुकी हैं। केंद्र व्यवस्थापक, एवं अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक के साथ परीक्षा केंद्र पर शुचितापूर्ण परीक्षा कराने का दायित्व स्टेटिक मजिस्ट्रेट का भी है। केंद्र व्यवस्थापक एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट के अतिरिक्त कोई भी मोबाइल फोन नहीं रखेगा। प्रश्नपत्रों की गोपनीयता सुनिश्चित करने के लिए डबल लाक की आलमारी में उन्हें जिस स्ट्रांग रूम में रखा जाएगा वहां सीसी कैमरे 24 घंटे निगरानी में रहेंगे। यहां कोई भी मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं करेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार ने कहा सभी केंद्र व्यवस्थापकों को परीक्षा प्रारंभ होने के पहले ही पालीवार परीक्षार्थियों की गणना करके कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी लगा देनी है और उसको निर्धारित पोर्टल पर अंकित भी कर देना है। डबल लाक में एक लाक की एक चाभी केंद्र व्यवस्थापक के पास और दूसरे लाक की एक चाभी अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक के पास और प्रत्येक लाक की शेष चाभियां सील करके स्टेटिक मजिस्ट्रेट की अभिरक्षा में परीक्षा केंद्र में सुरक्षित रहेंगी। इसका उपयोग अपरिहार्य परिस्थितियों में ही किया जाएगा।
प्रधानाचार्य राधेश्याम ने बताया कि परीक्षा समाप्ति के बाद जनपद मुख्यालय पर स्थित संकलन केन्द्र पर निर्धारित प्रपत्र के साथ उत्तर पुस्तिकाओं के सील्ड बंडल वाहक के माध्यम से जमा किए जाएंगे। आशीष पाठक ने बताया कि इस बार सभी परीक्षार्थियों को सीरियल नंबर मुद्रित उत्तर पुस्तिकाएं दी जाएंगी। परीक्षार्थी को उत्तर पुस्तिका के प्रत्येक पृष्ठ पर अपना अनुक्रमांक एवं उत्तर पुस्तिका का सीरियल नंबर लिखना अनिवार्य है। बैठक में एसडीएम रामसनेहीघाट विजय त्रिवेदी, एसडीएम हैदरगढ़ शालिनी प्रभाकर, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट राम आसरे वर्मा, एएसपी मनोज पांडेय आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here