बस स्टैंड के आगे बने नाले के ढक्कन टूटे मार्ग बाधित बसें सड़क पर खड़ी होने से बना रहता जाम का माहौल

0
139

रामनगर/बाराबंकी

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

चौराहे पर फैले अतिक्रमण से अधिकतर लगी रहती जाम

बुढ़वल चौराहे पर लग रही जाम से निपटने व यात्रियों की सुविधा के लिए बस स्टॉप का निर्माण कराया गया,लेकिन नाले के ऊपर ढके ढक्कनो के टूट जाने की वजह से बसे राष्ट्रीय राज मार्ग पर ही खड़ी हो जाती है।जिसके चलते अधिकतर चौराहे पर भारी जाम लगा रहता है कभी कभी यातायात व्यवस्था पूरी तरह से कुछ समय के लिए बाधित भी हो जाती है।मालुम हो कि बुढ़वल रामनगर चौराहे पर बहराइच और गोण्डा रूट की तरफ आवागमन करने वाली रोडवेज बसें सड़क पर ही पुलिस क्षेत्राधिकारी कार्यालय के पास बहुत देर तक सवारियों के इंतजार में खड़ी रहतीं हैं।इसके अलावा रोड पर ही रोडवेज व प्राइवेट बसें सवारियों को उतारतीं और चढ़ातीं हैं व दूसरे डग्गामार वाहन भी यहीं जमे रहते हैं।इस वजह से यहां पर राहगीरों का गुजरना भी मुश्किल हो जाता है।रोडवेज बसों के खड़े होने के लिये करोड़ों रुपये की लागत से बस अड्डा बनाया गया है।यहां पर यात्रियों के बैठने के लिये भी सुविधाएं हैं और बसों के खड़े होने के लिए भी पर्याप्त स्थान है।लेकिन सड़क के किनारे बने नाले के ऊपरी ढक्कन टूटे पड़े है जिससे रोडवेज की बसें बस अड्डे के अंदर नही जा पाती है और बसे सड़क पर अधिक नजर आतीं हैं।बस चालक और कंडक्टर बस को रोक कर सड़क पर सवारियों का इंतजार करते हैं। बस में यदि सवारियां कम हैं तो ये बहुत देर तक वहां खड़े रहते हैं।बाहर की डिपो से आने वाली बसों के ड्राइवर और कंडक्टर का प्रयास रहता है कि वे तिराहे पर ही सवारियों को उतार दें और वहीं से उन्हें सवारियां मिल जाएं, उन्हें अंदर बस अड्डे न जाना पड़े।रोडवेज बसों के अलावा प्राइवेट बसों के ड्राइवर और कंडक्टर भी सड़क पर ही यात्रियों को उतारते और चढ़ाते हैं। रामनगर में चलने वाले बैट्री रिक्शा और आटो वाले भी वहीं आसपास जमे रहते हैं। रामनगर टिकैतनगर के लिए जाने वाली बसें और दूसरे डग्गामार वाहन भी तिराहे से ही यात्रियों की बैठाते है।इसकी वजह से भी यहां जाम लगता है।रामनगर के लोगों को यहां से निकलने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है।चौराहे से लेकर पूरे कस्बे तक फुटपाथ पर भी छोटे दुकानदारों ने व ठेलो पर फल रखकर हाइवे के किनारे कब्जा जमाया हुआ है। इसके अलावा जो स्थायी दुकानदार है। उन्होंने भी अपना सामान बाहर फैलाकर जगह को घेर लिया है, जिसके चलते यहां पर जगह की कमी पड़ जाती है और जाम लगता है।रामनगर के बुढ़वल तिराहे पर यातायात सुधारने के लिए पुलिस, होमगार्ड और पीआरडी के जवान तैनात रहते हैं, लेकिन पुलिस क्षेत्राधिकारी के निकट बस अड्डा व तिराहे पर वाहन देर तक खड़े रहते है और चारो ओर अतिक्रमण की भरमार है।यह बात अलग है नजरो से यह सब ओझल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here