महादेवा मेला समाप्त होने के दो दिन बाद भी नहीं हुई सफाई धार्मिक स्थल पर फैल रही दुर्गंध

0
354

रिपोर्ट:-कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

महादेवा बाराबंकी।लोधेश्वर महादेवा का फाल्गुनी मेला समाप्त हो गया कांवरियो का आना जाना बंद हुआ।लेकिन महादेवा के प्रांगण में कूड़े के ढेर लगे हुवे है गंदगी फैली हुई है।महादेवा के पूरे क्षेत्र में दोना पत्तल कचड़ा पड़ा हुआ है।सफाई कर्मचारियों ने सफाई के नाम पर खाना पूर्ति की है। लोधेश्वर महादेवा के पंडित ने बताया की सफाई कर्मचारी सिर्फ और सिर्फ इधर-उधर घूम रहे थे और मोबाइल से सेल्फी लेने में मस्त थे  कूड़े के ढेर में आग लगाकर रवाना हुए झाड़ू तक नहीं लगाया इतनी दुर्गंध आ रही है बीमारी फैलने की संभावना है।और कहा सफाई कर्मचारी अफसर बने घूम रहे है। इतनी ज्यादा गंदगी है की दुर्गंध फैल रही हैअभरन तालाब के पीछे जिसमे कांवड़िया बाग में रुकते है उस मैदान में भी दोना पत्तल पड़े हुए हैं।
श्री लोधेश्वर महादेवा में शिवरात्रि के दो दिन बीत जाने के बाद भी सफाई के हालात वैसे के वैसे ही है।किसी भी जिम्मेदार अधिकारी का ध्यान कामचोर सफाई कर्मचारियों पर नहीं जा रहा है।महादेवा में चारों तरफ गंदगी ही गंदगी दिखाई पड़ रही हैं।सफाई करवानी तो दूर मानो अधिकारियों ने महादेवा से ध्यान ही हटा लिया हो। जिससे कई बीमारियों के फैलने की संभावना बढ़ गई है।महाशिवरात्रि पर उमड़ी भीड़ के बाद मंदिर के मुख्य मार्ग,निकास मार्ग से लेकर मेला मैदान पर पॉलिथीन,कागज,दोना पत्तल हवा से उड़ कर मंदिर तक पहुंच रहे हैं। कई जगहों पर कूड़े के ढेर लगे हुए हैं, कीचड़ बजबजा रहा है। चारों तरफ बदबू दुर्गंध फैली हुई है।

मेला मैदान में फैली गंदगी से आ रही बदबू

कांवरियों के रुकने के लिए मेला मैदान में अस्थाई शौचालय ना होने के कारण शिव शिवभक्त खुले में शौच के लिए मजबूर थे जिससे गंदगी का साम्राज्य पड़ा हुआ है, इतनी बदबू आ रही है, कि लोगो का निकलना दूभर हैं। लेकिन अभी किसी अधिकारी ने संज्ञान नहीं लिया है। इस संबंध में खंड अधिकारी सूरतगंज ने कहा मेला अब समाप्त हुआ है,सफाईकर्मी की टीम भेजकर जल्द ही साफ -सफाई करवाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here