रामनगर:पुलिस और कावंड़ियों में हुई नोकझोक,जिम्मेदारों की अनदेखी से महादेवा मेला परिसर में जेबकतरों की बल्ले-बल्ले।

0
222

 

ब्यूरो रिपोर्ट:-शोभित शुक्ल

रामनगर बाराबंकी।जिले के रामनगर स्थित प्रसिद्ध लोधेश्वर धाम में जल चढ़ाने को लेकर हुई धक्का-मुक्की से नाराज काँवड़िये की मंदिर में मौजूद पुलिसकर्मियों से तीखी नोक झोंक हो गयी। इसपर पुलिसकर्मियों ने नाराज कावड़िये को झटके से मंदिर के बाहर कर दिया। पुलिस की प्रतिक्रिया से नाराज काँवड़िया मेले में घूम रहे साथियों से मिलकर दोबारा मंदिर आ गया और पुलिसकर्मियों से बात विवाद करने लगा। स्थनीय जनों ने बताया इस दौरान पुलिस कर्मियों व कांवड़ियों की आपस में मारपीट भी हुई। जिसमे दोनों पक्षो को चोटे आई है। घटना की सूचना पर पहुंचे रामनगर कोतवाल ने मोर्चा संभालते हुए नाराज काँवड़ियों को बड़ी मान मनौती के बाद शांत कराया। मालूम हो वही बीते 26 फ़रवरी को भी मंदिर से लेकर पुरे मेला परिसर की भीड़-भाड़ वाली जगहों पर सक्रिय जेबकतरो कि टीम मंदिर परिसर में एक काँवड़िये को अपना निशाना बनाते हुए उसकी जेब साफ करने का असफल प्रयास किया। इस हरकत से नाराज काँवड़ियों ने ज़ब इसका विरोध किया तो बेखौफ जेबकतरों ने उसपर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। पीड़ित द्वारा ज़ब इस मामले की शिकायत स्थानीय चौकी को दी गई। तो पुलिस ने मामले को गंभीरता से न लेते हुए समझा-बुझा कर वापस भेज दिया। पुलिस की इस लापरवाही कार्यशैली से पीड़ित के साथ आए काँवड़ियों में पुलिस के प्रति आक्रोश है। वहीं साथ आए एक दर्जन पुरुष व महिलाओ के गुट में शामिल ग्राम प्रधान अटवा थाना संडीला के ओम प्रकाश सिंह ने बताया कि मेले में पुलिस कि लापरवाही से मेले में घूम रहे जेबकतरो ने हमारे साथी चंदी पुत्र रामलखन उम्र 36वर्ष को मारते-मारते लहू-लुहान कर दिया है। शिकायत करने के बाद भी पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here