मंसूरी समाज को सपा के मुखिया कर रहे अनदेखा ,वसीम राईन

0
139

रामनगर/बाराबंकी

समाजवादी पार्टी ने संख्या बल अधिक होने के बावजूद मंसूरी बिरादरी को एक भी टिकट नही दिया।हमारे अगुवा अहमद हसन को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इतना बड़ा गम और तकलीफ दी कि वह सदमा बर्दाश्त न कर सके।यह बात पसमांदा मुस्लिम महाज के प्रदेश अध्यक्ष वसीम राईन ने नगर पंचायत रामनगर मे पत्रकार वार्ता के दौरान व्यक्त की।उन्होने कहा कि सपा अध्यक्ष के वालिद की जान अहमद हसन ने बचाई थी।अहमद हसन जेरे इलाज रहे पर अखिलेश ने उनका हाल तक न पूंछा बल्कि मिट्टी में भी जाना मुनासिब नही समझा और उनकी बीबी का भी इन्तिकाल हो गया पर अखिलेश यादव को समय नही मिल सका।पूर्वांचल से टिकट वितरण में अंसारी बिरादरी को एक भी टिकट नही जब की बुनकरो की बड़ी आबादी होने के बाद भी बड़ा अपमानित किया गया।उन्होंने रामनगर विधानसभा क्षेत्र का जिक्र करते हुये कहा कि जिस कांग्रेस की नेहरू सरकार में मंत्री रहे रफी अहमद किदवई ने आर्टिकल 341 के तहत पसमांदा मुस्लिम समाज पर धार्मिक प्रतिबन्ध लागू किये, उन्ही के भतीजे फरीद महफूज किदवई रामनगर विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।उनकी विरादरी का शायद ही कोई दूसरा घर क्षेत्र मे हो।मत हमारे समाज का चाहिये टिकट एक भी नही देगे।उन्होने कांग्रेस पर तंज कसते हुये कहा कि हमेशा दबे कुचले पिछड़े पसमांदा मुस्लिम समाज को नापसंद किया और सत्ता में विदेशी मुसलमानों को भागीदारी दी।यही काम सपा और बसपा ने भी किया।अंग्रेज़ो ने जिन अंसारी बुनकरों के अंगूठे अपना कपडा बाजार मे लाने के लिये काटे थे।सपा ने तो हमारे समाज को एक राज्यसभा सीट तक नही दी।हमारे समाज के लोग अपनी ताकत का अहसास करे और हक के लिये लडाई लडे।इस मौके पर आल इंडिया पसमादा महाज के जिला अध्यक्ष नसरुद्वीन अंसारी मीडिया प्रभारी रिजवान नईम मौजूद रहे।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here