पुनःउसी गन्ने के खेत मे नरकंकाल का मिला अवशेष व कमीज

0
666

रामनगर/बाराबंकी

बउवा कांड का खुलासा न होने से परिजनों में रोष

थाना रामनगर अंतर्गत ग्राम तेलवारी में बीते वर्ष की 26 जून से लापता किशोर के मीले अवशेष पुलिस के लिए एक अनसुलझी पहेली बनती जा रही है।पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है बतादे की इस मामले में बीती 27 जनवरी को गाँव के करीब गन्ने के खेत में मासूम के कपड़े सहित कुछ कंकाल के अवशेष मिले थे।मौके पर पहुँची पुलिस ने आलाधिकारियों की निगरानी में खेत मे मिले हुए कपड़ा व अवशेषो को कब्जे में लेकर डीएनए टेस्ट के लिए भेजा गया था। पीड़ित परिजनों को आश्वासन दिया गया था की पांच दिन के अन्दर खुलासा किया जाएगा।बतादे की बुधवार की सुबह पूर्व की भाँति गाँव के समीप उसी गन्ने के खेत मे कटाई के दौरान कमीज व नरकंकाल के अवशेष देखे गए जिसकी जानकारी खेत काट रहे मजदूरों ने खेत मालिक व परिजनों को दी सूचना पर पहुँचे परिजनों ने मिले अवशेषो के पास मिली कमीज से लापता हुए वीरेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ बउवा की पहचान कर घटना की सूचना स्थानीय थाने समेत आला अधिकारियों को दी।मौके पर पहुंची पुलिस ने मिली कमीज व अवशेषो को कब्जे में लेकर आवश्यक जांच हेतु जिला मुख्यालय भेज दिया।गौरतलब बात ये है कि लापता बउवा के परिजनों ने चार लोगो के खिलाफ नामजद तहरीर दी थी।वही पीड़ित परिजनों ने अपना दर्द बयां कर पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा की पांच दिन के अंदर कार्यवाही करने को कहा था लेकिन अभी तक न जांच पूरी हो पाई और न कोई कार्यवाही ही की गई है।अब आगे देखना है की बउआ प्रकरण की गुत्थी सुलझ पाती है या अनसुलझी ही रह जाती है।

रिपोर्ट/कृष्ण कुमार शुक्ल/विवेक शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here